भोपाल, 22 मई (भाषा) कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी के चलते रेलवे ने 16 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन कर 50 टैंकरों के जरिये 566 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन मध्य प्रदेश में पहुंचाई।

भोपाल रेल मंडल प्रबंधक (डीआरएम) उदय बोरवणकर ने शनिवार को ऑनलाइन पत्रकार वार्ता में बताया कि पिछले दिनों प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी के कारण प्रदेश सरकार के आग्रह पर रेलवे ने मध्यप्रदेश के लिये 16 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन किया। इन ट्रेनों के जरिये 50 ऑक्सीजन टैंकरों के जरिये 566 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन प्रदेश के अलग अलग शहरों के अस्पतालों में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीजों के लिये पहुंचाई गई।

उन्होंने बताया कि चार ऑक्सीजन एक्सप्रेस बोकारो से भोपाल आईं और इसमें 145 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई।

डीआरएम ने बताया कि महामारी के दौरान भोपाल रेल मंडल के 1594 कर्मचारी इस बीमारी की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से 1359 कर्मचारी ठीक हो गये जबकि 41 की मौत हो गई। फिलहाल मंडल के 113 कर्मचारी उपचाराधीन हैं।

उन्होंने बताया कि इसके अलावा भोपाल रेल मंडल के 21 सेवानिवृत्त कर्मचारी और रेल कर्मचारियों के परिवार के 21 लोगों की इस बीमारी से मौत हुई है।

उन्होंने बताया कि अप्रैल में भोपाल रेल मंडल में 80 प्रतिशत यात्री ट्रेनों का संचालन हुआ लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के बढ़ते प्रभाव के बाद यात्रियों की कमी के चलते कई ट्रेनों को रद्द करना पड़ा।

भाषा दिमो शफीक