सुपरस्टार एक्टर रजनीकांत को ब्लड प्रेशर की समस्या के कारण शुक्रवार को यहां अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया. अस्पताल ने एक बयान में कहा कि उनकी तबीयत ठीक है और वह आराम कर रहे हैं. डॉक्टर उनके पास रहेंगे और शनिवार को आगे की जांच की जाएंगी.

अभिनेता पिछले 10 दिन से हैदराबाद में एक फिल्म की शूटिंग कर रहे थे. सेट पर कुछ लोगों के कोविड-19 से संक्रमित होने के बाद वह पृथक-वास में चले गए थे. हालांकि 70 वर्षीय अभिनेता में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई.

तेलंगाना की राज्यपाल तमिलीसाई सुंदराजन, तेदेपा प्रमुख तथा आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और अभिनेता-राजनीतिज्ञ कमल हासन ने रजनीकांत के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है.

इससे पहले अस्पताल ने एक विज्ञप्ति जारी कर बताया, ‘‘रजनीकांत को आज सुबह अस्पताल में भर्ती कराया गया. हालांकि उनमें कोविड-19 के कोई लक्षण नहीं हैं. उनका रक्तचाप घट-बढ़ रहा है और इस पर नजर रखने की जरूरत है. इसलिए उन्हें अस्पताल में भर्ती रहना होगा.’’

बयान में कहा गया कि उनकी जांच की जाएगी और रक्तचाप सामान्य होने तक उनकी निगरानी की जाएगी. ठीक होने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी.

बयान के अनुसार रक्तचाप में उतार-चढ़ाव और थकान के अलावा उन्हें किसी तरह की दिक्कत नहीं है.

इस बीच, राज्यपाल सुंदराजन ने डॉक्टरों को फोन कर अभिनेता के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली.

उन्होंने ट्वीट किया, ''अपोलो अस्पताल के डॉक्टरों को फोन कर श्री रजनीकांत के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली...उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करती हूं.''

नायडू ने लिखा, ‘‘सुपरस्टार रजनीकांत को आज अस्पताल में भर्ती किये जाने की खबर सुनकर चिंतित हूं. उनके जल्द स्वस्थ होने और अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता हूं.’’

मक्कल निधि मय्यम (एमएनएम) के संस्थापक कमल हासन ने ट्विटर का रुख करते हुए अपने 'मित्र' रजनीकांत के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की.

अभिनेता और जन सेना के संस्थापक पवन कल्याण ने उम्मीद जताई कि रजनीकांत महावतार बाबाजी के आशीर्वाद से जल्द स्वस्थ होंगे जिन्हें सुपरस्टार गुरु मानते हैं.

रजनीकांत अपनी आगामी फिल्म ‘अन्नाथे’ की शूटिंग के लिए पिछले दिनों शहर में आए थे लेकिन चार कर्मियों के संक्रमित पाए जाने के बाद शूटिंग रोक दी गयी थी.

फिल्म का निर्माण कर रही कंपनी सन पिक्चर्स ने बुधवार को कहा था कि अभिनेता रजनीकांत और फिल्म से जुड़े अन्य लोगों में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है.