भारत में त्योहारों की कोई कमी नहीं है. भारत वासियों के पास हर रिश्ते को सेलिब्रेट करने का एक पर्व होता है. जैसे भाई बहन के पवित्र रिश्ते को सेलिब्रेट करने के लिए हर साल रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाता है. इस साल रक्षाबंधन 22 अगस्त यानी रविवार को है. रक्षाबंधन के पवित्र त्योहार पर सभी बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा का धागा यानी राखी बांधती हैं और भगवान से उनके सुखी जीवन की कामना करती हैं. इसके साथ ही भाई भी बहन की रक्षा करने का वचन देता है. हर साल रक्षाबंधन के दिन राखी बांधने का एक शुभ मुहूर्त होता है. ऐसी ही कुछ बातें हैं, जिनका विशेष ध्यान रखना चाहिए. आइए जानते हैं कि रक्षाबंधन के दिन वह कौन सी बातें हैं जिन्हें भूलकर भी नहीं करना चाहिए.

गज केसरी योग क्या है? रक्षाबंधन पर बन रहा ये संयोग

1. इस बात का विशेष ध्यान रखें की जब भी आप राखी बांधे तब भद्रा और राहुकाल ना चल रहा हो. इस समय राखी बांधना काफी अशुभ माना जाता है. भद्रा और राहुकाल में किए गया कोई भी कार्य सफल नहीं होता. अच्छी बात ये हैं कि इस साल रक्षाबंधन पर भद्रा का कोई भी साया नहीं है, हालांकि इस दिन राहुकाल पर जरूर नजर रखें.

2. अब आप रक्षाबंधन के अवसर पर किस रंग के कपड़े पहनते हैं इसका भी विशेष ध्यान रखें. आपको काले रंग के कपड़े पहनने से बचना चाहिए. काले रंग को नकारात्मकता और बुराई का प्रतीक माना जाता है, इसलिए इससे दूर ही रहें तो ही अच्छा होगा.

3. राखी बांधते समय आपको सही दिशा का भी ध्यान जरूर रखें. जब आप राखी बांध रहे हैं, तो आपके भाई का मुख दक्षिण दिशा में नहीं होना चाहिए. राखी बंधवाते समय पूर्व या उत्तर दिशा की ओर मुख होना अच्छा रहता है.

Rakshabandhan 2021: इस रक्षाबंधन है अद्भुत संयोग, जानें राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

4. रक्षाबंधन पर भाई और बहन एक दूसरे के गिफ्ट देते हैं. रक्षाबंधन के मौके पर एक दूसरे को रूमाल और तौलिया गिफ्ट में नहीं देना चाहिए. यह शुभ नहीं माना जाता.

5. इसके साथ ही गिफ्ट देते समय ध्यान रखें कि बहनों को धारदार या नुकीली चीजें ना दें. इस दिन मिरर और फोटो फ्रेम भी गिफ्ट देने से बचें.

Raksha Bandhan 2021: कब और क्यों मनाया जाता है रक्षाबंधन?

6. तिलक लगाते समय थाली में हम चावल भी रखते हैं, लेकिन चावल रखते हुए ध्यान दें कि वह चावल टूटे ना हो. भाई को तिलक के समय अक्षत् लगाने के लिए खड़े चावल का प्रयोग करें, अक्षत् का अर्थ ही होता है जिसकी कोई क्षति न हो.

#Rakshabandhan #Festival #Religion #India #Hinduism