भारत में त्योहारों की कोई कमी नहीं है, यहां हर दिन कोई ना कोई तिथि के अनुसार पर्व आ ही जाता है. अब रक्षाबंधन का त्योहार कुछ ही दिनों में है जो भाई-बहन के लिए बहुत खास होता है और इस दिन का इंतजार सभी भाई और बहनों को रहता है. हर साल श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि को रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाता है और इस साल तो इस पर्व पर बहुत ही शुभ संयोग बनने जा रहा है. विशेषज्ञों के मुताबिक इन संयोग को बहुत ही शुभ माना गया है और ये संयोग भाई-बहनों के लिए शुभ भी साबित होने वाले हैं.  

यह भी पढ़ें: Raksha Bandhan 2021: कब और क्यों मनाया जाता है रक्षाबंधन?

राखी बांधने का शुभ मुहूर्त: विशेषज्ञों के अनुसार, इस साल रक्षाबंधन पर शोभन योग बन रहा है. 22 अगस्त की सुबह 10 बजकर 34 मिनट पर शोभन योग है और ये योग मांगलिक कार्यों के लिए बहुत ही शुभ माना गया है. इस योग में की गई यात्रा बहुत ही कल्याणकारी होती है और इसके साथ ही शाम 7 बजकर 40 मिनट पर घनिष्ठा योग बन रहा है. इस नक्षत्र का स्वामी मंगल ग्रह माना जाता है और इस नक्षत्र में जन्में लोगों का अपने भाई-बहन के प्रति खास लगाव रहता है. इसलिए इस नक्षत्र में रक्षाबंधन का पड़ना भी भाई-बहन के लिए खास होता है. इस दिन भद्राकाल नहीं है इसलिए किसी भी समय राखी बांधी जा सकती है. 

यह भी पढ़ें: मोहर्रम कब है? जानें आशूरा का महत्व और इतिहास

#Rakshabandhan #Festival #India