मुंबई, 22 मई (भाषा) महाराष्ट्र कोविड-19 कार्य बल के सदस्य और वरिष्ठ चिकित्सक शशांक जोशी ने एलोपैथी पर योग गुरु बाबा रामदेव की टिप्पणी को शनिवार को गलत और गैर जिम्मेदाराना बताया।

वहीं आज दिन में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने भी रामदेव की टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। वायरल हुए एक वीडियो में रामदेव ने एलोपैथी को ‘मूर्खतापूर्ण विज्ञान’ बताते हुए कहा था कि एलोपैथी दवाएं लेने के बाद लाखों लोगों की मौत हुई है। उन्होंने यह भी कहा कि भारत के औषधि महानियंत्रक द्वारा स्वीकृत रेमडेसिविर, फेवीफ्लू और अन्य दवाएं कोविड-19 का उपचार करने में असफल रही हैं।

मराठी समाचार चैनल से बातचीत में डॉक्टर जोशी ने कहा, ‘‘ऐसी गैर जिम्मेदाराना टिप्पणी करना गलत है। रेमडेसिविर उपचार में सहायता करती है, लेकिन यह जीवन रक्षक दवा नहीं है। इसका किसी भी व्यक्ति पर कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है। ऐलोपैथी के बारे में ऐसी टिप्पणी करना गलत है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैं आयुर्वेद और यूनानी चिकित्सा पद्धतियों का भी सम्मान करता हूं।’’

भाषा अर्पणा माधव

माधव