Navratri Food: भारत में शारदीय नवरात्रों की शुरुआत 7 अक्टूबर 2021 से हो चुकी है. मा दुर्गा के भक्त इस त्योहार को बड़े धूमधाम से और पूरी भक्ति के साथ मनाते हैं. कुछ भक्त पूरे 9 दिनों तक कठोर व्रत का पालन करके माता को खुश करते हैं. वह केवल पूरे दिन में एक ही बार फलाहार करते हैं. व्रत करने वाले लोगों के लिए यह बहुत आवश्यक है कि वह अपने फलाहार में पौष्टिक भोजन लें जिससे उनके शरीर में ताकत बनी रहे. भक्तों को 9 दिनों तक अलग-अलग फलाहार लेना चाहिए इससे उनको खाने में बोरियत महसूस नहीं होगी. नवरात्रों के दौरान बहुत सारे लोग सिंघाड़े के आटे की रोटी बना कर खाना पसंद करते हैं. आज हम अपने इस लेख में आपको बताएंगे कि आप सिंघाड़े के आटे से चीले (Singhara Atta Cheela Recipe) कैसे बना सकते हैं. आपको सारी सामग्री और विधि से अवगत करवाया जाएगा.

यह भी पढ़ें:Health Tips:क्या आप जानते हैं भोजन करने के ये 5 नियम, तुरंत पढ़ें और इसे अपनाएं

सिंघाड़ा आटे का चीला बनाने की सामग्री

सिंघाड़ा आटा - एक कप

तेल/घी - 1 टेबल स्पून

हरी मिर्च कटी - 2

सेंधा नमक - 1/2 टी स्पून

हरा धनिया कटा - 1 टेबल स्पून

पानी

यह भी पढ़ें: Health and Fitness Tips: देसी खांड के ऐसे फायदे सुनकर चीनी छोड़ देंगे आप, पढ़िए पूरी जानकारी

सिंघाड़ा आटा चीला बनाने की विधि

व्रत के दौरान सिंघाड़े का आटा लोगों द्वारा खूब पसंद किया जाता है और खाया जाता है. अगर आप इस आटे का चीला बनाना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको एक गहरे तले वाला बर्तन लेना होगा. उसमें सिंघाड़े के आटे को डाल ले. उसके बाद हरी मिर्च ले और उसे बारीक काटकर सिंघाड़े के आटे में मिला ले. उसके बाद उसमें कटा हुआ हरा धनिया और सेंधा नमक डालें. इन सभी को अच्छे से मिला ले. अब आपको पानी लेना है और थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर चीले के घोल को तैयार करना है. जिस तरह हम बेसन का चीला बनाते हुए घोल को तैयार करते हैं वैसे ही आपको सिंघाड़े के आटे के घोल को भी तैयार करना है. ध्यान रहे कि बहुत ज्यादा पतला या बहुत ज्यादा गाढ़ा ना करें. हमारे द्वारा बताई गई सामग्री से चीले का घोल तैयार करने के लिए आपको कम से कम तीन से चार कप पानी की आवश्यकता पड़ेगी.

यह भी पढ़ें: Green Tea : ग्रीन टी के अनगिनत फायदे लेकिन क्या आप पीने का सही तरीका और समय जानते हैं?

उसके बाद आपको एक नॉन स्टिक तवा लेना है उसे गैस पर गरम करने के लिए रख दें. अब एक बड़ा चम्मच चीले का घोल तवे पर फैलाना होगा. इसे बेसन के चीले की तरह ही गोल कर फैलाएं. उसके बाद जब चीला नीचे की तरफ से थोड़ा सिक जाए तो चीलों के चारों तरफ तेल या घी डालकर उसकी सिकाई करें. इस दौरान चीले के ऊपर भी तेल लगाए. अब चीले को पलट दें फिर चीले की ऊपरी परत पर सिर्फ तेल /घी लगाकर सिकाई करें. जब दोनों ओर से चीला अच्छी तरह से सिक जाए तो उसे प्लेट में उतार लें. इस तरह आपका उपवास का फलाहार के रूप में चीला तैयार हो जाएगा. आप इसे दही या रायते के साथ खा सकते हैं.

यह भी पढ़ें: क्या आप घर पर लेना चाहते हैं टी-सटॉल वाली सौंधी चाय का स्वाद? अपनाएं ये आसान तरीका