नयी दिल्ली, 28 अप्रैल (भाषा) जाने-माने उद्योगपति मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने तेल रिफाइनिंग और पेट्रोरसायन इकाई में 20 प्रतिशत हिस्सेदारी बिक्री के लिये सऊदी अरामको के साथ नकद और शेयर सौदे पर संभवत: बातचीत की है। एक रिपोर्ट में यह कहा गया है।

अंबानी ने अगस्त 2019 में तेल व रसायन कारोबार (ओ2सी) में 20 प्रतिशत हिस्सेदारी दुनिया के सबसे बड़े तेल निर्यातक कंपनी को बेचे जाने के बारे में बातचीत की घोषणा की थी। इस कारोबार में गुजरात के जामनगर में दो तेल रिफाइनरी और पेट्रोरसायन संपत्ति शामिल हैं।

सौदा मार्च 2020 तक पूरा होना था लेकिन इसमें देरी हुई। हालांकि इसका कारण नहीं बताया गया।

अखबार फाइनेंशियल टाइम्स ने सूत्रों के हवाले से रिपोर्ट दी है कि हाल के सप्ताह में दोनों पक्षों के बीच बातचीत शुरू हुई है।

इसमें कहा गया है कि अरामको शुरू में हिस्सेदारी के लिये शेयर और बाद में कई साल में चरणबद्ध तरीके नकद भुगतान पर विचार कर रहा था। शेयर बनाम नकद का अनुपात अभी चर्चा का विषय बना हुआ है और शर्तों को अंतिम रूप दिया जाना बाकी है।

इस बारे में रिलायंस इंस्ट्रीज को ई-मेल भेजा गया, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया।

सऊदी अरब के शहजादा मोहम्मद बिन सलमान ने मंगलवार को एक टेलीविजन इंटरव्यू में सऊदी अरब की राष्ट्रीय तेल कंपनी में अल्पांश हिस्सेदारी विदेशी निवेशक को बेचने का संकेत दिया था। ‘‘...एक प्रतिशत हिस्सेदारी के अधिग्रहण को लेकर बातचीत हो रही है।’’

उन्होंने सौदे के बारे में विस्तार से कोई जानकारी नहीं दी।

भाषा

रमण मनोहर

मनोहर