पंजाब में कोरोना वायरस के मामले को देखते हुए राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लागू की गईं पाबंदियों को सरकार ने 31 मई तक बढ़ा दिया है. सरकार ने ये फैसला,कोविड-19 के नए मामलों में लगातार हो रही वृद्धि और मृत्यु दर में इजाफा होने के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है.

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने राज्य में कोविड रोधी प्रतिबंधों को कड़ाई से लागू करने के लिए दिशा-निर्देश भी जारी किए.

यह भी पढ़ेंः कर्मचारी संघ का दावा, हरियाणा सरकार ने की एक साल में 6 हजार से अधिक कर्मचारियों की छंटनी

उन्होंने कहा कि कोविड-19 प्रतिबंधों के दौरान जिलाधिकारी ही दुकानों को खोलने का समय तय करेंगे और उनपर ही कोरोना संक्रमण को, विशेष रूप से ग्रामीण इलाकों में फैलने से रोकने के लिए प्रतिबंधों को लागू कराने की जिम्मेदारी होगी.

यह भी पढ़ेंः सफर में जाने से पहले देख लें Indian Railways की कैंसिल ट्रेनों की लिस्ट

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिलाधिकारी स्थानीय परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए प्रतिबंधों के नियमों में बदलाव भी कर सकते हैं.

राज्य में कोविड-19 की मौजूदा स्थिति की समीक्षा को लेकर आयोजित एक बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रतिबंधों के कारण कोरोना संक्रमण के नए मामलों में कमी आई है.

यह भी पढ़ेंः यूपी सरकार राशनकार्ड धारकों को देगी मुफ्त राशन, प्रवासी मजदूरों को 1000 रुपये

वहीं, सरकार ने पंजाब के ग्रामीण इलाकों में कोरोना महामारी पर नजर रखने के लिए 'कोविड फतेह' अभियान शुरू किया है.

यह भी पढ़ेंः Airtel अपने ग्राहकों को देगा मुफ्त में देगा 49 रुपये का पैक, जानें किसे मिलेगा फायदा