दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पोंटिंग ने अपने मुख्य स्पिनर रविचंद्रन अश्विन से वादा किया कि वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से उन टीमों पर रनों का जुर्माना लगाने के बारे में बात करेंगे जिनके बल्लेबाज नान-स्ट्राइकर छोर पर ज्यादा ही बाहर निकल आते हैं.

पिछले साल इंडियन प्रीमियर लीग मैच के दौरान अश्विन ने जोस बटलर को नान-स्ट्राइकर छोर पर लाइन से ज्यादा बाहर निकलने के बाद रन आउट कर दिया था जिससे वह सुर्खियों में रहे थे. उन्हें सोमवार को दुबई में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के सलामी बल्लेबाज आरोन फिंच को वार्निंग देते हुए देखा गया था.

पोंटिंग ने अश्विन को 'मांकडिंग' की इजाजत दी 

अश्विन ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘‘जब तक चोर पश्चाताप नहीं करें, तब तक आप चोरी नहीं रोक सकते. मैं हमेशा इसकी निगरानी नहीं रख सकता. मैंने ट्वीट में पोंटिंग को टैग किया. उन्होंने (पोंटिंग) कहा कि उन्होंने मुझे (फिंच) को रन आउट करने के लिये कह दिया होता. उन्होंने कहा कि गलत चीज गलत ही होती है. ’’

अश्विन ने कहा, ‘‘उन्होंने कहा कि वह जुर्माने के बारे में आईसीसी समिति से बात कर रहे हैं. वह अपने वादे को रखने के लिये सचमुच काफी मेहनत कर रहे हैं. ’’

उन्होंने नान-स्ट्राइकर छोर पर बल्लेबाज को आउट नहीं करने की पोंटिंग की सोच को सम्मान देने के लिये ऐसा किया और साथ ही फिंच उनके टीम के पुराने साथी भी रहे हैं.

बल्लेबाजों को लास्ट वार्निंग दे चुके हैं अश्विन 

अश्विन ने कहा, ‘‘वह (फिंच) किंग्स इलेवन पंजाब के दिनों से ही अच्छा दोस्त रहा है, इसलिये मैंने इसे उन्हें अंतिम चेतावनी के तौर पर लिया. ’’

इस सीनियर आफ स्पिनर ने यह भी कहा कि कम से कम 10 रन जुर्माने के तौर पर काटे जाने चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘इसकी सजा कड़ी होनी चाहिए. ऐसा करने के लिये 10 रन का जुर्माना कर दो तो कोई भी ऐसा नहीं करेगा. इस तरह से बल्लेबाज को आउट करना कोई कौशल की बात नहीं है लेकिन गेंदबाजों के पास कोई अन्य विकल्प भी नहीं है.’’