नयी दिल्ली, 28 अप्रैल (भाषा) एसएंडपी ग्लोबल रेटिंग्स ने बुधवार को कहा कि कोविड संक्रमण की दूसरी लहर से भारत की आर्थिक वृद्धि दर घटने का जोखिम पैदा हो गया है और इससे कारोबारी गतिविधियां प्रभावित हो सकती हैं।

रेटिंग एजेंसी ने कहा कि दूसरी लहर के चलते अनिश्चितता का वातावरण है और कोविड का प्रकोप लंबा चला तो ये भारत की भरपाई को प्रभावित करेगा।

एसएंडपी ने एक बयान में कहा, ‘‘ऐसे में हमें वित्त वर्ष 2021-2022 के लिए 11 प्रतिशत वृद्धि के अनुमान को संशोधित करना पड़ सकता है, खासतौर पर तब जब सरकार व्यापक प्रतिबंधों को लागू करने के लिए बाध्य हो।’’

आधिकारिक अनुमानों के अनुसार भारतीय अर्थव्यवस्था वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान आठ प्रतिशत घटी है।

रेटिंग एजेंसी ने कहा, ‘‘भारत में कोविड-19 की दूसरी लहर बेहद गंभीर है। मानवीय चिंताओं के अलावा एसएंडपी ग्लोबल रेटिंग्स का मानना ​​है कि इससे जीडीपी वृद्धि के लिए जोखिम पैदा हो गया है और व्यापार बाधित होने की आशंका है।’’