मथुरा, 23 मई (भाषा) उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान थाना नौहझील क्षेत्र के गांव मुड़लिया में पुलिस पर हुए हमले के मामले में फरार चल रहे रालोद नेता योगेश नौहवार को शनिवार को उसके आवास से गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने इस मामले में उसके सहयोगी रहे अजय सिंह नामक व्यक्ति को भी गिरफ्तार कर लिया है।

नौहवार ने इससे पूर्व अग्रिम जमानत की अर्जी लगाई थी जिसे अदालत ने पुलिस की आपत्ति के बाद खारिज कर दिया था।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. गौरव ग्रोवर ने बताया कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशी एवं राष्ट्रीय लोकदल समर्थित सोनू चौधरी के पक्ष में समर्थन जुटाने के लिए 20 अप्रैल को गांव के लोगों की पंचायत हुई थी। पंचायत में बुलाए गए लोगों के लिए दावत देने का कार्यक्रम भी रखा गया था, जबकि इसकी प्रशासन से कोई मंजूरी नहीं ली गई थी।

उन्होंने बताया कि इस बारे में जानकारी मिलने पर थाना नौहझील के प्रभारी लोकेश भाटी पुलिस बल के साथ मुड़लिया गांव पहुंचे थे जहां बिना अनुमति के लोगों का जमावड़ा पाया गया और लोग कोविड रोधी दिशा-निर्देशों के अनुरूप भौतिक दूरी का अनुपालन नहीं कर रहे थे। वहां निर्वाचन अधिकारी की अनुमति बिना सामूहिक दावत का आयोजन हो रहा था।

अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने जब लोगों को वहां से जाने को कहा तो उन्होंने पुलिस पर पथराव कर दिया था जिससे थाना प्रभारी भाटी सहित चार पुलिसकर्मी बुरी तरह घायल हो गए थे और

पुलिस की गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हो गई थी।

उन्होंने कहा कि पुलिस ने घटना के बाद दो दिन के भीतर एक दर्जन से अधिक आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, लेकिन मुख्य आरोपी नौहवार व प्रत्याशी सोनू सहित कई अन्य आरोपी फरार हो गए थे। बाद में, नौहवार ने अग्रिम जमानत के लिए प्रार्थना पत्र दिया, जिसे अदालत ने शुक्रवार को खारिज कर दिया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पुलिस ने शनिवार को नौहवार और मामले में उसके सहयोगी रहे अजय सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

भाषा सं नेत्रपाल

नेत्रपाल