नयी दिल्ली, 26 मई (भाषा) उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र की प्रमुख कंपनी सैमसंग ने बुधवार को कहा कि वह भारत में कोविड-19 टीकाकरण अभियान में मदद के लिए 10 लाख लो डेड स्पेस (एलडीएस) सीरिंज का आयात कर रही है। यह इंजेक्शन के दौरान टीके की बर्बादी को कम करने में मददगार है।

एलडीएस सीरिंज इंजेक्शन के बाद सीरिंज में छोड़ी गई दवा की मात्रा को कम करता है, अत: टीके की बर्बादी कम होती है। इस तरह वैक्सीन की समान मात्रा के जरिए 20 प्रतिशत अधिक लोगों को खुराक दी जा सकती है।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि भारत के लिए इस नवाचारी सीरिंज को सैमसंग के कोविड समर्थन कार्यक्रम के तहत दक्षिण कोरिया से आयात किया जा रहा है। इसे अमेरिका सहित कुछ बाजारों में पहले ही पेश किया जा चुका है।

दक्षिण कोरियाई कंपनी पहले ही उत्तर प्रदेश के लखनऊ और नोएडा में जिला प्रशासन को 3.25 लाख एलडीएस सीरिंज दे चुकी है। जल्द ही तमिलनाडु में ग्रेटर चेन्नई कॉरपोरेशन को 3.50 लाख एलडीएस सीरिंज दी जाएंगी।

सैमसंग ने इस सीरिंज के विनिर्माता को उत्पादन क्षमता बढ़ाने में भी मदद की है।

सैमसंग इंडिया के उपाध्यक्ष और सीएसआर प्रमुख पार्थ घोष ने कहा कि सैमसंग इस कठिन वक्त में देश के साथ मजबूती से खड़ा है।

उन्होंने कहा, ‘‘अब जबकि हमारा देश टीकाकरण पर ध्यान केंद्रित कर रहा है, हम एलडीएस सीरिंज के जरिए इसमें मदद कर रहे हैं, जो टीके की बर्बादी कम करने में सहायता करेगा।’’