मुम्बई, 19 अप्रैल (भाषा) शिवसेना के सांसद संजय राउत ने देश में कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा के वास्ते कम से कम दो दिनों के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाने की सोमवार को मांग की।

कोविड-19 की स्थिति को ‘‘अप्रत्याशित एवं करीब-करीब युद्ध जैसी’ करार देते हुए राउत ने कहा कि उन्होंने रविवार को इस मुद्दे पर देशभर के कुछ प्रमुख नेताओं से चर्चा की और सभी का मत था कि स्थिति गंभीर है।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘यह अप्रत्याशित एवं करीब-करीब युद्ध जैसी है। सर्वत्र बहुत ज्यादा भ्रम एवं तनाव है। बेड नहीं हैं, ऑक्सीजन नहीं है, टीकाकरण भी नहीं है। यह कुछ नहीं बल्कि अराजकता है। स्थिति पर चर्चा के लिए कम से कम दो दिनों के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाया जाना चाहिए।’’

उन्होंने यहां संवाददाताओं से बातचीत में किसी का नाम लिये बगैर दावा किया कि कुछ राज्य कोविड-19 मामलों की वास्तविक संख्या छिपाते हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘आंकड़े छिपाने की परिपाटी अब कुछ राज्यों में रूक गयी है। (आंकड़े) छिपाने की (परिपाटी) का गुबार निकल जाने के बाद अब कुछ राज्यों में कई स्थानों से बस चिताओं से आग की लपटें नजर आती हैं।’’

शिवसेना के राज्यसभा सदस्य ने दावा किया कि यदि कोविड-19 के मामले बढ़ते रहे, आंकड़े छिपाये जाते रहे और सरकार वर्तमान स्थिति पर नियंत्रण नहीं कर पायी तो ‘अराजकता’ फैल जाएगी ।

राउत के बयान पर भाजपा की महाराष्ट्र इकाई के मुख्य प्रवक्त केशव उपाध्याय ने ट्वीट किया, ‘‘राउत संजय 61 जी आपने महाराष्ट्र की स्थिति की सटीक व्याख्या की है। इसलिए स्थिति पर चर्चा के लिए पहले विधानसभा का विशेष सत्र बुलाइए।’’