शिवसेना सांसद और पार्टी के प्रवक्ता संजय राउत ने कहा है कि सचिन वाजे को लेकर कुछ नेताओं को उन्होंने आगाह किया था कि मुंबई पुलिस के निलंबित अधिकारी सचिन वाजे महाराष्ट्र सरकार के लिये समस्या पैदा कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि एक तरह से यह अच्छा हुआ कि घटना हुयी और हमने सबक सीखा.

राउत ने यह भी कहा कि सचिन वाजे प्रकरण ने प्रदेश में शिवसेना नीत गठबंधन सरकार को एक अच्छा सबक सिखाया है.

यह भी पढ़ेंः Indian Railways के नए नियम से यात्रियों पर लगेगा जुर्माना, रात में नहीं कर पाएंगे मोबाइल चार्ज

पीटीआई के मुताबिक, राउत ने एक इंटरव्यू में कहा, 'जब सचिन वाजे को महाराष्ट्र पुलिस बल में बहाल करने की योजना बनायी जा रही थी तो मैने कुछ नेताओं को सूचित किया था कि वह हमारे लिये समस्या पैदा कर सकते हैं. उनका व्यवहार और काम करने का तरीका सरकार के लिये कठिनाईं पैदा कर सकता है.'

हालांकि, राउत ने नेताओं के नाम का खुलासा करने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा, 'वाजे की गतिविधियों एवं विवाद सहित पूरे प्रकरण से प्रदेश की गठबंधन सरकार को सबक सीखने को मिला है. एक तरह से यह अच्छा हुआ कि घटना हुयी और हमने सबक सीखा.'

यह भी पढ़ेंः दिल्ली में 76 वर्षों के बाद में मार्च में दर्ज किया गया सबसे अधिक तापमान

निलंबित पुलिस अधिकारी का मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा समर्थन किये जाने के बारे में पूछे जाने पर राउत ने कहा कि वाजे तथा उनकी गतिविधियों के बारे में उन्हें पर्याप्त जानकारी नहीं थी.

गौरतलब है कि, उद्योगपति मुकेश अंबानी के दक्षिण मुंबई स्थित आवास एंटीलिया के बाहर 25 फरवरी को एक संदिग्ध वाहन खड़ा पाया गया था. उसमें विस्फोटक सामग्री रखी हुई थी. इस मामले में कथित भूमिका को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने इस महीने के शुरू में वाजे को गिरफ्तार किया था.

यह भी पढ़ेंः BJP कार्यकर्ता की जिस 85 वर्षीय मां को TMC वर्कर्स ने कथित रूप से पीटा था, उनकी मौत

इससे पहले भी 2004 में घाटकोपर बम धमाकों के आरोपी ख्वाजा युनुस की हिरासत में हुयी मौत के मामले में वाजे को निलंबित किया गया था और पिछले साल उन्हें फिर से पुलिस बल में शामिल किया गया था.