चंडीगढ़, 23 मई (भाषा) हरियाणा के ग्रामीण इलाकों में कोविड-19 के आंशिक या मध्यम लक्षण वाले मरीजों को घर पर जल्द से जल्द चिकित्सीय देखरेख उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सरकार सोमवार को कोविड-19 रोधी 'संजीवनी परियोजना’ की शुरुआत करेगी।

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने रविवार को बताया, “ ‘संजीवनी परियोजना’ की वजह से उन ग्रामीण इलाकों में चिकित्सीय देखरेख की पहुंच को बढ़ावा दिया जाएगा, जहां कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच महामारी और इलाज को लेकर जागरूकता की कमी रही।'

मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर इस पहल की शुरुआत 24 मई को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से करेंगे। प्रवक्ता ने इस कार्यक्रम को उन लोगों के लिए बेहद जरूरी करार दिया जिन्हें स्थिति के हिसाब से चिकित्सीय देखभाल की सबसे ज्यादा जरूरत पड़ती है।

इस पहल में एक एकीकृत कमांड और नियंत्रण केंद्र शामिल होगा जिसके जरिए बिस्तरों की उपलब्धता, ऑक्सीजन आपूर्ति, एम्बुलेंस की जानकारी और घर-घर जाकर इस बीमारी को लेकर जागरूकता को बढ़ावा देना शामिल है।