चंडीगढ़, 23 मई (भाषा) हरियाणा के हिसार में जिला प्रशासन ने सोमवार को किसानों के विरोध प्रदर्शन से पहले सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है।

जिले में पिछले सप्ताह रविवार को पुलिस और किसानों के बीच हिंसक झड़प के मामले में पुलिस द्वारा 300 से ज्यादा किसानों पर मामला दर्ज किए जाने के बाद किसानों ने विरोध प्रदर्शन आहूत किया है। पुलिस ने किसानों के एक समूह पर उस समय आंसू गैस के गोले दागे थे और उन पर बल प्रयोग किया था, जब वे मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर के एक कार्यक्रम स्थल पर जाने की कोशिश कर रहे थे। खट्टर वहां कोविड-19 अस्पताल का उद्घाटन करने गए थे।

किसान संगठनों ने कहा था कि वह सोमवार को हिसार पुलिस आयुक्तालय का घेराव करेंगे। उन्होंने किसानों पर कथित तौर पर लाठीचार्ज करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। अधिकारियों ने बताया कि विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर हिसार में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।

जिला प्रशासन ने किसानों से अपील की है कि कोविड-19 महामारी के दौर में उन्हें बातचीत के लिए आगे बढ़ना चाहिए। राज्य सरकार की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि प्रशासन का मानना है, ‘‘ बड़े मुद्दों का समाधान सिर्फ बातचीत से हो सकता है।’’

बयान में कहा गया है कि बातचीत के लिए जिला प्रशासन के दरवाजे अब भी खुले हैं।

हरियाणा पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे अज्ञात 350 किसानों के ख़िलाफ ड्यूटी पर तैनात कर्मियों पर कथित तौर पर हमला करने को लेकर मामला दर्ज किया है। किसान और पुलिस के बीच झड़प में 20 पुलिसकर्मी घायल हो गए थे।