इंडेक्स की बड़ी कंपनियों इंफोसिस, एचडीएफसी बैंक और टीसीएस में मजबूत बढ़त के कारण इक्विटी बेंचमार्क सेंसेक्स शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में 350 अंक से अधिक बढ़कर 60,000 अंक पर पहुंच गया.

BSE का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स (Sensex) 375 अंक की तेजी के साथ 60,260 के अपने ऑल-टाइम हाई स्तर पर पहुंच गया. इसी तरह, शुरुआती ट्रेडिंग में निफ्टी (NSE Nifty) 106 अंक बढ़कर 17,929 के इंट्रा-डे रिकॉर्ड पर पहुंच गया. 

सेंसेक्स को 1,000 से 60,000 तक पहुंचने में 31 साल लगे 

सेंसेक्स को 1,000 अंक से ऐतिहासिक 60,000 के स्तर तक पहुंचने में 31 साल से अधिक समय लगा. 25 जुलाई 1990 को बेंचमार्क इंडेक्स 1,000 अंक पर था और 4 मार्च 2015 को 30,000 अंक को छूने में लगभग 25 साल लग गए. छह साल में सेंसेक्स 30,000 के स्तर से 60,000 के स्तर पर चढ़ गया है, जो बाजार में समग्र तेजी को दर्शाता है.

सेंसेक्स पैक में इंफोसिस 2 प्रतिशत से अधिक की बढ़त के साथ शीर्ष बढ़त हासिल करने वाला शेयर रहा, इसके बाद एलएंडटी, एचसीएल टेक, एशियन पेंट्स, टीसीएस, टेक महिंद्रा और एचडीएफसी बैंक रहे. दूसरी ओर एनटीपीसी, एचयूएल, बजाज फाइनेंस और बजाज फिनसर्व पिछड़ गए.

यह भी पढ़ेंः PM Modi's US visit: पहले दिन पीएम मोदी ने किस-किस से मुलाकात की और क्या बातें हुईं

पिछले सत्र में सेंसेक्स 958.03 अंक बढ़कर 59,885.36 के सर्वकालिक उच्च स्तर पर समाप्त हुआ था और निफ्टी 276.30 बढ़कर 17,822.95 के अपने नए उच्च स्तर पर पहुंच गया.

विदेशी संस्थागत निवेशक (FII) पूंजी बाजार में शुद्ध खरीदार थे क्योंकि उन्होंने अस्थायी विनिमय आंकड़ों के अनुसार गुरुवार को 357.93 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे. 

एशिया में शंघाई, सियोल और हांगकांग के शेयर मध्य सत्र सौदों में घाटे के साथ कारोबार कर रहे थे, जबकि टोक्यो ने सकारात्मक ट्रेडिंग की. रात भर के सत्र में अमेरिकी शेयर बढ़त के साथ बंद हुए. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 0.09 प्रतिशत बढ़कर 77.32 डॉलर प्रति बैरल हो गया.

यह भी पढ़ेंः PF की पुराने अकाउंट के बैलेंस को नए खाते में करें ट्रांसफर, जानें ऑनलाइन आसान तरीका