सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक ने साझा बयान जारी करते हुए कहा है कि वो लोगों और देशों के लिए वैक्सीन के महत्व को लेकर पूरी तरह से अवगत हैं और दुनिया को अपनी वैक्सीन प्रदान करने के लिए तैयार हैं. दोनों कंपनियों ने 'सहज' तरीके से वैक्सीनेशन शुरू करने का वादा किया है. बता दें कि दोनों कंपनियों के अधिकारियों के बीच पिछले कुछ दिनों से जुबानी जंग देखने को मिल रही थी, इसी बीच दोनों ने साझा बयान जारी किया है. 

गौरतलब है कि भारत के औषधि नियामक ने ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ द्वारा निर्मित ‘ऑक्सफोर्ड’ के कोविड-19 टीके ‘कोविशील्ड’ और ‘भारत बायोटेक’ के स्वदेश विकसित टीके ‘कोवैक्सीन’ के आपात स्थिति में इस्तेमाल को रविवार को मंजूरी दे दी थी. इससे व्यापक टीकाकरण अभियान का मार्ग प्रशस्त हो गया है.

साझा बयान में कहा गया है, "अब जब भारत में दो कोविड-19 वैक्सीन को आपात स्थित में इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है, हमारा फोकस इसके निर्माण और बंटवारे पर है. सप्लाई और बंटवारा इस प्राथमिकता के साथ कि इसकी सबसे ज्यादा जरूरत है, उसे प्रभावी और सुरक्षित वैक्सीन मिल सके."