कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन को लेकर देश से लेकर विदेशों तक प्रतिक्रिया दी जा रही है. विदेशों की प्रतिक्रिया पर देश के कई सेलेब्रिटीज़ इस मामले में दखल नहीं देने की बात कर रहे हैं. इस दौरान दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने भी प्रतिक्रिया दी थी. लेकिन एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने सचिन को सावधानी बरतने की सलाह दी है.

शरद पवार ने सचिन तेंदुलकर को सलाह देते हुए कहा, 'भारतीय सेलेब्रिटीज़ के उठाए गए स्टैंड पर कई लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. लेकिन मैं सचिन को सलाह दूंगा कि, जब वे दूसरे विषय के बारे में बोलों तो उस दौरान सावधानी बरतें.

जो रूट के दोहरे शतक के बाद फ्लिंटॉफ ने अमिताभ बच्चन के 5 साल पुराने ट्वीट का दिया जवाब

दरअसल, पॉप स्टार रिहाना और ग्रेटा थनबर्ग ने भारत में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर ट्वीट कर अपना समर्थन दिया था. इसके बाद कई भारतीय सेलेब्रिटीज़ ने इस समर्थन को लेकर प्रतिक्रिया दी. इसमें सचिन तेंदुलकर ने भी ट्वीट कर कहा, भारत की संप्रभुता से समझौता नहीं किया जा सकता है. बाहरी ताकतें दर्शक हो सकती हैं लेकिन प्रतिभागी नहीं. भारतीय भारत को जानते हैं और भारत के लिए फैसला ले सकते हैं. आइए एक राष्ट्र के रूप में एकजुट रहें.

गौरतलब है कि सचिन के बयान को लेकर आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी और कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने आलोचना की थी. शिवानंद तिवारी ने यहां तक कहा दिया था कि उन्हें भारत रत्न देना भारत रत्न का अपमान है.

जो रूट ने अपने 100वें टेस्ट मैच में तोड़े कई रिकॉर्ड, बने दुनिया के पहले बल्लेबाज