दिल्ली कैपिटल्स के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन आईपीएल इतिहास के पहले खिलाड़ी बन गए हैं, जिन्होंने लगातार दो मैच में शतक जड़ा हो. 

शिखर धवन ने आज किंग्स XI पंजाब के खिलाफ 61 गेंद में 12 चौके और तीन छक्के की मदद से नाबाद 106 रन बनाए. इससे पहले पिछले मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ उन्होंने 58 गेंद में नाबाद 101 रन की पारी खेली थी. 

बेहतरीन फार्म में चल रहे सलामी बल्लेबाज शिखर धवन के लगातार दूसरे शतक की मदद से दिल्ली कैपिटल्स ने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच में मंगलवार को यहां पांच विकेट पर 164 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया.

चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ पिछले मैच में अपने टी20 करियर का पहला शतक (नाबाद 101) बनाने वाले धवन ने वहीं से शुरुआत करके 61 गेंदों पर नाबाद 106 रन बनाये जिसमें 12 चौके और तीन छक्के शामिल हैं. वह आईपीएल में लगातार मैचों में शतक बनाने वाले पहले बल्लेबाज बने. दिल्ली की पारी पूरी तरह से उनके इर्द गिर्द घूमती रही क्योंकि उनके अलावा कोई भी अन्य बल्लेबाज 20 रन के स्कोर तक नहीं पहुंच पाया.

तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (28 रन देकर दो) और स्पिनरों ग्लेन मैक्सवेल (31 रन देकर एक), मुरुगन अश्विन (33 रन देकर एक) और रवि बिश्नोई (तीन ओवर में 24 रन) ने बल्लेबाजी के लिये अनुकूल दिख रही पिच पर बाकी बल्लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने दिया लेकिन धवन के सामने उनकी एक नहीं चली.

पृथ्वी सॉव (सात) लगातार चौथे मैच में दोहरे अंक में नहीं पहुंच पाये. इन मैचों में उन्होंने केवल 11 रन बनाये हैं. जेम्स नीशाम (1-17) की जिस गेंद पर उन्होंने कैच दिया उस पर उनकी टाइमिंग सही नहीं थी.

लेकिन धवन ने शुरू से दबदबा बनाने की कोशिश की. उन्होंने पंजाब के सबसे प्रभावशाली गेंदबाज शमी के एक ओवर में तीन चौके जड़कर गेंदबाजों पर दबाव बनाया. बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने लगातार चौथी पारी में 50 या इससे अधिक रन बनाये. आईपीएल में यह कारनामा करने वाले वह छठे बल्लेबाज हैं. बिश्नोई पर लगाये गये छक्के से वह इस टी20 लीग में 5000 रन पूरे करने वाले पांचवें बल्लेबाज भी बने. उन्होंने 57 गेंदों पर शतक पूरा किया.

धवन ने यह पारी तब खेली जबकि दूसरे छोर से नियमित अंतराल में विकेट गिर रहे थे. कप्तान श्रेयस अय्यर (12 गेंद पर 14) ने अपना विकेट इनाम में दिया. चोट से उबरकर वापसी करने वाले ऋषभ पंत (20 गेंदों पर 14 रन) जितने समय क्रीज पर रहे रन बनाने के लिये जूझते नजर आये. मार्कस स्टोइनिस (नौ) भी डैथ ओवरों में धवन को सहारा नहीं दे पाये. शिमरोन हेटमायर (10) आखिरी गेंद पर पवेलियन लौटे.