उत्तराखंड में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं. इस वजह से नेता अपनी-अपनी जगह तलाश रहे हैं. वहीं, उत्तराखंड में कांग्रेस को तगड़ा झटका लगा है. यहां उत्तरकाशी जिले की सीट पुरोला विधानसभा के कांग्रेस विधायक राजकुमार ने एक बार फिर बीजेपी का दामन थाम लिया है. उन्होंने दिल्ली में बीजेपी कार्यालय में बीजेपी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. राजकुमार पहले भी बीजेपी में रह चुके हैं इसलिए उनके बीजेपी में आने के बाद घर वापसी कहा जा रहा है.

हाल ही में उत्तराखंड से निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह (Preetam Singh) भी पार्टी में शामिल हुए थे, जिसके बाद पार्टी का दावा था कि कुछ और विधायक भी भाजपा में शामिल हो सकते हैं. इससे पहले शनिवार को राजकुमार भाजपा में शामिल होने वाले थे लेकिन किन्हीं कारणों से उनकी ज्वाइनिंग टल गई थी.

यह भी पढ़ेःं राहुल गांधी का Sunday Thoughts, 'नौकरी ही नहीं है तो क्या रविवार, क्या सोमवार!'

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कांग्रेस विधायक राजकुमार को बीजेपी में शामिल कराया. इस मौके पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी और प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक मौजूद रहे. राजकुमार के बीजेपी में शामिल होने को काफी अहम माना जा रहा है.

यह भी पढ़ेंः गुजरात में बीजेपी को चाहिए लाइम लाइट वाला सीएम चेहरा? विजय रुपाणी की यही थी सियासी कमजोरी

आपको बता दें, राजकुमार 2007 से 2012 तक बीजेपी के सदस्य थे. हालांकि बाद में भाजपा ने जब उन्हें टिकट नहीं दिया तो उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया. पुरोला विधायक राजकुमार की पारिवारिक पृष्ठभूमि कांग्रेस की ही रही है. उनके पिता पतिदास ने 1985 उत्तरकाशी से कांग्रेस के टिकट पर विधान सभा चुनाव लड़ा था और हार गए थे.

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी रविवार को दिल्ली दौरे पर हैं. सीएम धामी का दौरान केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात का कार्यक्रम है. वह रविवार शाम को ही नई दिल्ली से वापस देहरादून लौटेंगे.

यह भी पढ़ेंः रामविलास पासवान की बरसी पर पीएम मोदी की चिट्ठी, चिराग ने कहा- 'ये मुझे शक्ति देती है'