मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने गुरुवार को कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Election 2020) में NDA को बहुमत प्राप्त हुआ है और NDA की बैठक होगी तथा औपचारिक तौर पर गठबंधन के नेता का ऐलान होगा. इसके साथ ही नीतीश कुमार ने लोजपा को केंद्र में NDA से निकाले जाने पर भी विचार रखे.  

नीतीश ने लोजपा प्रमुख चिराग पासवान का नाम लिए बिना कहा कि हमलोगों ने पूरे NDA के लिए अभियान चलाया लेकिन कई सीटों पर BJP के साथ JDU को भी नुकसान पहुंचाया गया. लोजपा को केंद्र में NDA से निकाले जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम NDA के साथ हैं और NDA कोई फैसला लेता है तो उसके साथ चलेंगे और मिलकर काम करेंगे.

पटना स्थित JDU के प्रदेश मुख्यालय में पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों के साथ बैठक करने के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि बैठक (NDA की) होगी तो उसमें (तय) हो ही जाएगा. उन्होंने कहा कि हमने तो काम किया है. NDA का जो निर्णय होगा, वही मान्य होगा. हमसे पूछिएगा तो हमारा कोई दावा नहीं है. NDA की बैठक होगी और उसमें औपचारिक तौर पर निर्णय होगा. उन्होंने राजग की बैठक के बारे में बताया कि यह एक—दो दिन के बाद ही हो पाएगा.

शपथ ग्रहण को लेकर पूछे गए एक प्रश्न पर उन्होंने कहा कि अभी यह तय नहीं हुआ है. मंत्रियों की संख्या के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि संवैधानिक प्रावधानों में इसकी सीमा पहले से ही निर्धारित है. अब कितने मंत्री पहले दौर में और उसके बाद बनते हैं, यह तो बाद की चीज है.

JDU को इस चुनाव में कम सीट आने के बारे में सफाई देते हुए नीतीश ने कहा, ''हमलोगों ने समाज के सभी वर्गों के लिए काम किया और उसके बाद भी कोई भ्रम पैदा करता है और लोग भ्रमित होते हैं तो यह उनका अधिकार है.’’