कोलंबो, 25 मई (भाषा) श्रीलंकाई नौसेना ने पिछले सप्ताह कोलंबो तट के पास एक कंटेनर जहाज में आग लगने के बाद दो भारतीय समेत चालक दल के सभी 25 सदस्यों को मंगलवार को बचा लिया। आग बुझाने का काम अभी जारी है।

मीडिया की खबरों के मुताबिक बचाव अभियान के समय दोनों भारतीय गंभीर रूप से जख्मी हो गए। उन्हें कोलंबो नेशनल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल दोनों की पहचान नहीं हो पायी है।

अधिकारियों ने बताया कि गुजरात में हजीरा से सौंदर्य प्रसाधनों के लिए रसायन और अन्य कच्चा माल कोलंबो बंदरगाह लेकर आए कंटेनर जहाज एमवी एक्स प्रेस पर्ल में 20 मई को तट से 9.5 समुद्री मील दूरी पर आग लग गयी। इसी जगह पर जहाज ने लंगर डाला था।

नौसेना, बंदरगाह प्राधिकरण और समुद्री पर्यावरण सुरक्षा प्राधिकरण ने तुरंत आग बुझाने का काम शुरू कर दिया और माना जा रहा था कि आग पर काबू पा लिया गया।

जहाज के एक हिस्से में नाइट्रिक एसिड भंडारित होने के कारण मंगलवार सुबह आग से मंगलवार सुबह धमाका हुआ।

आग पर काबू पाने के लिए श्रीलंकाई वायुसेना के बेल-212 हेलिकॉप्टर की सेवा ली गयी। जहाज के चालक दल के सभी 25 सदस्यों को बचा लिया गया। चालक दल में फिलिपीन, चीन, भारत और रूस के नागरिक थे।

‘कोलंबो गजट’ अखबार के मुताबिक दोनों भारतीय गंभीर रूप से घायल हो गए।

नौसेना ने कहा है कि आग पर काबू पाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। अभियान के दौरान आठ मालवाहक कंटेनर समुद्र में गिर गए।

नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन इंडिका डे सिल्वा ने बताया कि रासायनिक प्रतिक्रिया के कारण आग लगी।

अधिकारियों ने बताया कि भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण बचाव अभियान में मुश्किलें आ रही हैं।