सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह ने वकील विकास सिंह को सुशांत का केस सौंपा है. वे लगातार सुशांत के परिवार के साथ खड़े हैं और परिवार का पक्ष लोगों के सामने रख रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि मुंबई पुलिस ने सुशांत के परिवार से मराठी में लिखे बयान पर साइन कराया है. सुशांत के परिवार को इसकी जानकारी नहीं है कि उस बयान में क्या लिखा था.

सुशांत सिंह राजपूत के परिवार ने जताई आपत्ति

2 सितंबर यानी बुधवार को वकील विकास सिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और इसमें उन्होंने कहा, 'परिवार ने ये कभी नहीं कहा कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत का कारण आत्महत्या थी. मुंबई पुलिस ने मराठी में उनके स्टेटमेंट को रिकॉर्ड किया और मराठी भाषा में लिखे बयान पर परिवार से साइन भी कराया.परिवार ने इस बात पर विरोध भी जताया, 'अगर आपको बयान पर साइन कराना है तो मराठी में न लिखें.सुशांत के परिवार को इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि उस बयान में क्या लिखा था.'

विकास सिंह का दावा है कि बयान को परिवार के साथ शेयर भी नहीं किया गया. हमें नहीं पता की मुंबई पुलिस ने क्या बयान दर्ज किया, हमें इतना पता है कि हमने क्या कहा.

जब विकास सिंह से पूछा गया कि बयान साइन कराने से पहले उन्हें वह हिन्दी में पढ़कर नहीं सुनाया गया कि उसमें क्या लिखा है तो इस पर विकास सिंह ने जवाब दिया कि, 'वह सिर्फ मराठी में लिखा गया. उसके कोई नहीं पढ़ पाया. जब हमें कोई भाषा नहीं आती है तो सामने वाला हमें वही सुनाएगा जो वो सुनाना चाहता है. इसमें भी यही हुआ है, मुझे मराठी नहीं आती तो मैं कैसे पता लगाऊं कि उसमें क्या लिखा है.'

सीबीआई के अलावा ये एजेंसी भी कर रही है जांच

14 जून को सुशांत सिंह राजपूत अपने मुंबई स्थित फ्लैट में मृत पाए गए थे. इसके बाद सुशांत के पिता केके सिंह ने सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के खिलाफ पटना में एफआईआर दर्ज कराई. सीबीआई ने रिया सहित कई लोगों से इस मामले में पूछताछ की है, और इस केस को हर एंगल से जोड़कर देख रही है. सीबीआई इस केस की जांच कर रही है, इसके अलावा नारकोटिक्स ब्यूरो और ईडी भी इस मामले को सुलझाने की कोशिश में है.