बॉलीवुड हस्तियों के एक वर्ग ने किसान आंदोलन को लेकर पॉप स्टार रिहाना के ट्वीट पर अक्षय कुमार और अजय देवगन जैसे बड़े फिल्मी सितारों की प्रतिक्रिया की गुरुवार को आलोचना की. अभिनेत्री तापसी पन्नू, फिल्मकार ओनिर, अभिनेता अर्जुन माथुर और अन्य ने बड़े सितारों द्वारा सरकार का पक्ष लिये जाने की निंदा की.

ट्विटर पर 10 करोड़ फॉलोवर के साथ दुनिया में चौथी सबसे अधिक फॉलो की जाने वाली हस्ती रिहाना ने मंगलवार को ट्विटर पर किसान आंदोलन से संबंधित सीएनएन की एक खबर साझा करते हुए लिखा था, ''हम इस बारे में बात क्यों नहीं कर रहे?'' रिहाना के ट्वीट के बाद स्वीडन की पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग, वकील तथा अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की भांजी मीना हैरिस, अभिनेत्री अमांडा सेरनी, गायकों जे सिएन, डॉक्टर जियूस और पूर्व पॉर्न स्टार मिया खलीफा ने प्रदर्शनकारी किसानों के समर्थन में आवाज उठाई थी.

भारत ने इन ट्वीट पर बुधवार को कड़ी प्रतिक्रिया दी थी, जिसका बॉलीवुड और क्रिकेट जगत की हस्तियों के साथ-साथ शीर्ष मंत्रियों ने भी समर्थन किया था. विदेश मंत्रालय ने कहा था कि कुछ निहित स्वार्थी समूह प्रदर्शनों पर अपना एजेंडा थोपने का प्रयास कर रहे हैं और संसद में पूरी चर्चा के बाद पारित कृषि सुधारों के बारे में देश के कुछ हिस्सों में किसानों के बहुत ही छोटे वर्ग को कुछ आपत्तियां हैं.

पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, क्रिकेटर विराट कोहली, गायिका लता मंगेशकर, अभिनेता अक्षय कुमार और अजय देवगन तथा फिल्मकार करण जौहर तथा अन्य ने इस मुद्दे पर सोशल मीडिया हैशटैग 'इंडिया टुगेदर' और 'इंडिया अगेंस्ट प्रोपगैंडा' का इस्तेमाल कर विदेश मंत्रालय के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सरकार के प्रति एकजुटता प्रकट की थी.

ये भी पढ़ें: विराट कोहली ने बताया- टीम इंडिया की मीटिंग में किसान आंदोलन को लेकर बात हुई

इन ट्वीट में लोगों को ''दुष्प्रचार'' के शिकंजे में न आने और मतभेद फैलने वालों पर ध्यान न देकर ''सर्वमान्य समाधान'' का समर्थन करने की अपील की गई थी. फिल्म जगत की कई हस्तियों ने बड़ी हस्तियों के इस तरह अचानक ट्विटर पर सक्रिय होने और दूसरी ओर किसानों की दुर्दशा पर ध्यान देने या उसे समझने में नाकाम रहने को ''शर्मनाक'' तथा ''दुखद'' करार दिया है.

किसानों के मुद्दे की मुखर समर्थक अभिनेत्री तापसी पन्नू ने सरकार के अभियान पर निशाना साधते हुए कहा कि भावनाओं को मजबूत बनाने पर ध्यान दिया जाना चाहिये. पन्नू ने ट्वीट किया, ''यदि एक ट्वीट आपकी एकता को हिला सकता है, एक मजाक आपके विश्वास को डिगा सकता है और एक शो आपके धार्मिक विश्वास को आहत कर सकता है तो आपको अपनी भावनाओं को मजबूत करने की जरूरत है, न कि दूसरों को दुष्प्रचार के बारे में सीख देने की.''

ये भी पढ़ें: मीनाक्षी लेखी ने कहा- मैं ग्रेटा थनबर्ग को बाल वीरता पुरस्कार देने का प्रस्ताव करती हूं

कई फिल्मों में अक्षय कुमार के साथ काम कर चुकीं अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा समेत अन्य हस्तियों ने भी रिहाना के ट्वीट का समर्थन किया है. सिन्हा ने इंस्टाग्राम पर अपनी एक स्टोरी में इस दलील को खारिज कर दिया कि यह भारत का आंतरिक मामला है. उन्होंने कहा, ''ये कोई एलियन नहीं है, बल्कि इंसान हैं जो दूसरे इंसानों के अधिकारों के लिये आवाज उठा रहे हैं.''

हास्य कलाकार तथा अभिनेता वीर दास ने कहा कि वह यह देखकर अचंभित हैं कि किस तरह रिहाना और थनबर्ग के ट्वीट को लेकर भारतीय ''संगठित'' हो गए हैं. फिल्मकार ओनिर ने भी मशहूर हस्तियों द्वारा सरकार के पक्ष में किये गए ट्वीट को लेकर निशाना साधा और बॉलीवुड के तथाकथित समर्थन को 'कठपुतली' का खेल बताया. उन्होंने ट्वीट किया, ''बेहद शर्मनाक बात है कि हस्तियों का एक झुंड, जो उनकी आवाज नहीं उठा सकता, वह संदेश दे रहा है. वे वही कर रहे हैं, जो उनसे कहा गया है.''

इसके अलावा ज्वेलरी डिजाइनर फराह अली खान, अभिनेत्री सयानी गुप्ता, स्वरा भास्कर, अभिनेता अर्जुन माथुर, अभिनेता-टीवी होस्ट सुशांत सिंह समेत विभिन्न हस्तियों ने बड़ी हस्तियों द्वारा सरकार का पक्ष लिये जाने की निंदा की है.