उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले में एक पंचायत ने 'न्याय' को ही शर्मसार कर दिया है. यहां नाबालिग रेप पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए इकट्ठा हुई पंचायत ने हैरान कर देने वाला निर्णय सुनाया है. पंचायत ने नाबालिग बलात्कार पीड़िता को मुआवजे के तौर पर आरोपी से 50,000 रुपये लेने और उसे पांच बार चप्पल से मारने का हुक्म सुनाया. 

पीड़िता के परिवार ने पंचायत का आदेश मानने से इनकार कर दिया और पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई है. मामला दर्ज कर लिया गया है. बता दें कि महाराजगंज सीएम योगी आदित्यनाथ के गृह नगर गोरखपुर का पड़ोसी जिला है. 

ये भी पढ़ें: देश में लगातार 48वें दिन कोरोना से उभरने वालों की संख्या नए कोविड केस से ज्यादा

कोठीभर थाना क्षेत्र की रहने वाली पीड़िता की मां ने 23 जून को अपनी बेटी के साथ हुए कथित दुष्कर्म की शिकायत ग्राम पंचायत में की थी. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पंचायत ने पीड़िता से आरोपी से 50 हजार रुपये लेकर और उसे ग्राम परिषद के सामने चप्पल से पांच बार मारकर मामला सुलझाने को कहा. 

 पुलिस ने बताया कि 25 जून को लड़की के परिवार ने कोठीभरी पुलिस में शिकायत दर्ज कराई क्योंकि वे पंचायत के फैसले से संतुष्ट नहीं थे. 

ये भी पढ़ें: अखिलेश की तीखी टिप्पणी, 'बीजेपी को विकास नहीं विनाश में रूचि'

पंचायत के फैसले की खबर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद महाराजगंज के पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता ने मंगलवार को अधिकारियों को लड़की का मेडिकल परीक्षण कराने और उसका बयान दर्ज करने का निर्देश दिया.

उन्होंने कहा, "अगर मेडिकल टेस्ट में बलात्कार की सूचना मिलती है, तो कानून के संबंधित प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया जाएगा और आगे की कार्रवाई की जाएगी." 

ये भी पढ़ें: मायावती का ऐलान, यूपी-उत्तराखंड में BSP अकेले लड़ेगी चुनाव, AIMIM से कोई लेना देना नहीं

With PTI Inputs