आम आदमी पार्टी (AAP) ने टीके की कमी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए शहर के कई हिस्सों में पोस्टर लगाये जाने की रविवार को जिम्मेदारी ली और कहा कि उसके कई कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया और सैंकड़ों कार्यकर्ताओं को वह ‘परेशान’ कर रही है.

वरिष्ठ आप नेता दुर्गेश पाठक ने कहा कि पुलिस की कार्रवाई पार्टी को रोक नहीं पाएगी एवं वह अभियान चलाकर पूरे शहर एवं देश में ऐसे पोस्टर लगा देगी.

यह भी पढ़ेंः देश में कोरोना के मामलों में गिरावट, गौतम गंभीर बोले- 'दिल्ली में कोरोना कम नहीं टेस्ट कम हो रहे'

पाठक ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'आप ऐसे पोस्टरों के पीछे है. मुझे और हमारे विधायकों को गिरफ्तार कीजिए लेकिन गरीब लोगों को परेशान मत कीजिए जिन्होंने मामूली पैसे के लिए पोस्टर चिपकाए.'

यह भी पढ़ेंः कर्मचारी संघ का दावा, हरियाणा सरकार ने की एक साल में 6 हजार से अधिक कर्मचारियों की छंटनी

दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान शहर के कई हिस्सों में कथित रूप से पोस्टर चिपकाने को लेकर 25 प्राथमिकियां दर्ज की एवं उतने ही लोगों को गिरफ्तार किया. इन पोस्टरों पर लिखा है, 'मोदीजी हमारे बच्चों का वैक्सीन विदेश क्यों भेज दिया.'

यह भी पढ़ेंः बच्चों की वैक्सीन पर राहुल गांधी ने उठाए पीएम मोदी पर सवाल, जानें क्या बोले कांग्रेस नेता

पाठक ने कहा कि पूरे देश में लोग यही प्रश्न पूछ रहे हैं कि प्रधानमंत्री एवं भाजपा सरकार ने पाकिस्तान, अफगानिस्तान, ईरान एवं इराक समेत 94 देशों को टीके की करोड़ों खुराक का निर्यात क्यों किया जिससे भारत में हजारों जानें बचायी जा सकती थी.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली, यूपी, पंजाब समेत इन 11 राज्यों में बढ़ा कोरोना कर्फ्यू और लॉकडाउन