कोरोना महामारी के संकट के दौर में कई लोग ऐसे सामने आए जिन्होंने लोगों की मदद कर एक प्रेरणा दी है. कोरोना के समय में देश को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा है. हालांकि, इस दौर में लोग कोरोना के खिलाफ एकजुट भी खड़े होने की कोशिश में लगे हैं और किसी न किसी तरह से सहायता करने में लगे हैं. ऐसे ही लोगों में से एक है मदुरै की रहने वाले पुलपांडिया, जो एक भिक्षुक हैं और मांग कर अपनी जीवनयापन करते हैं.

कोरोना संकट के दौर में पुलपांडिया ने सराहनीय काम किया है, जिससे उनकी खूब तारीफ हो रही है. उन्होंने मांग कर बचत की हुई अपनी राशि से 90 हजार रुपये राज्य के COVID-19 रिलीफ फंड में दान किया है.

तमिलनाडु स्थित मदुरै के रहने वाले पुलपांडिया कहते हैं कि मुझे इससे बहुत खुशी मिली है और जिला कलेक्टर ने मुझे जो समाजसेवी का तमगा दिया है इससे मेरी खुशी और बढ़ गई है.

बता दें, पुलपांडिया ने ऐसा पहली बार नहीं किया है. उन्होंने बीते मई महीने में भी 10 हजार रुपये का दान किया था. इसके बाद से पुलपांडिया की वाहवाही स्थानीय लोगों के साथ-साथ सोशल मीडिया पर भी खूब हो रही है.

ये एक बहुत बड़ी बात है कि एक भिक्षुक समाज की सेवा के लिए इतना बड़ा दान दे रहा है. उनकी ये निष्ठा लोगों के लिए बड़ी प्रेरणा के स्त्रोत हैं.