पिछले दिनों में एक खबर आई कि अमेरिकी की एक फ्लाइट को खाली कराना पड़ा क्योंकि एक स्मार्टफोन में आग लग गई थी. हालांकि स्मार्टफोन में आग लगने की संभावना बहुत कम होती है लेकिन ऐसा तभी होता है जब हम हमारी डिवाइस का उपयोग कैसे करते हैं. ज्यादातर स्मार्टफोन में तेज चार्जिंग क्षमताओं के साथ लगभग 4500mAh या उससे अधिक की शक्तिशाली बैटरी नहीं होती है तो ऐसा हो जाता है. आज हम आपको बताते हैं ऐसी कौन सी 5 बड़ी गलतियां हैं जिनके कारण मोबाइल की बैटरी फटती है.

यह भी पढ़ें: क्या है FIT India मोबाइल ऐप? सरकार ने खेल दिवस पर किया है लॉन्च

मोबाइल खराब होने पर भी उसे चलाना: जब फोन गिर जाता है या गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो जाता है, तब भी कुछ लोग उसका उपयोग करते हैं. मगर ऐसा नहीं करना चाहिए और इसे तुरंत किसी रिपेयरिंग शॉप ले जाना चाहिए.

फोन गर्म होने पर इस्तेमाल करना: बहुत से लोग फोन चार्जिंग में लगे रहने पर उसका इस्तेमाल करते हैं. अगर आप देखें कि डिवाइस असामान्य रूप से गर्म हो रहा है तो उसे पहले चार्ज हो जाने दें.

फोन को ओवरचार्ज करना: अपने फोन को रात भर चार्जिंग में लगा नहीं रहने दें. अपने फोन को 100 प्रतिशत चार्ज करना जरूरी नहीं होता है. आप इसे 90 प्रतिशत पर ही बंद कर दें क्योंकि 100 प्रतिशत के बाद यह ओवरचार्जिंग लेता है.

यह भी पढ़ेंः भाविना पटेल को गुजरात सरकार की तरफ से इनाम, मिलेंगे 3 करोड़

डुप्लीकेट चार्जिंग का उपयोग: फास्ट चार्जिंग एडेप्टर का उपयोग करते समय सावधानी रखना चाहिए. हमेशा उसी का उपयोग करना चाहिए जो स्मार्टफोन के साथ आया हो. ज्यादा पावर रेटिंग वाले चार्जर का उपयोग करने से दबाव पड़ने लगता है और साथ ही ब्रांडेड फोन में डुप्लीकेट चार्जर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

धूप में फोन चार्ज बिल्कुल नहीं करें: अक्सर लोगों का चार्जिंग प्वाइंट धूप में होता है और लोग उसी में फोन चार्ज करने लगते हैं जो फोन के लिए बिल्कुल सही नहीं होता है. धूप की गर्माहट और चार्जिंग की गर्माहट से फोन की लाइफ कम हो जाती है.

डिस्क्लेमर: इस लेख में दी गई जानकारी सामान्य है और इसकी पुष्टि Opoyi Hindi नहीं करता है. इसपर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से राय जरूर लें.

यह भी पढ़ेंः National Sports Day के मौके पर भाविना पटेल के मेडल से देश में जश्न