नये साल पर जहां हर कोई एक-दूसरे को बधाई दे रहे हैं वहीं किसान अपने आंदोलन को तेज करने की बात कर रहे हैं. सिंघु बॉर्डर पर जमा हुए हजारों की संख्या में किसानों ने सरकार को चेतावनी दे दी है कि अगर उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो उनका आंदोलन और भी जोरदार हो जाएगा.

ANI के मुताबिक, 'कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघु बॉर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 37वें दिन भी जारी है. किसान मज़दूर संघर्ष कमेटी के सुखविंदर सिंह सभरा ने बताया, "तीन कृषि कानून रद्द होने चाहिए, अगर 4 जनवरी को इसका कोई हल नहीं निकलता तो आने वाले दिनों में संघर्ष तेज़ होगा.'

बता दें, पिछले 37 दिनों से पंजाब, हरियाणा और उत्तर-प्रदेश की दिल्ली से लगी सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसानों ने प्रदर्शन जारी रखा है. सरकार और किसान संगठनों के बीच 6 दौर की बातचीत हो गई है. इस बैठक के बाद भी कोई भी हल नहीं निकला और किसानों की मांग है या तो सरकार कृषि कानूनों को वापस ले नहीं वो लोग अपना आंदोलन और भी तेज कर देंगे.

यह भी पढ़ें- सरकार के साथ हुई बैठक में बोले किसान संघ नेता- कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग का नहीं है कोई विकल्प