पंजाब, हरियाणा और उत्तर-प्रदेश से लगे हुए दिल्ली बॉर्डर पर हजारों की संख्या में किसानों का प्रदर्शन पिछले 48 दिनों से चल रहा है. किसानों की मांग है कि वह केंद्र अपने बनाए कृषि कानूनों को वापस लें तभी वे सभी अपने-अपने घर वापस जाएंगे. सिंघु बॉर्डर पर किसानों का यह प्रदर्शन उग्र होता जा रहा है और किसानों का कहना है कि अगर सरकार ने उनकी मांगों को नहीं माना तो वे लोग होली भी यहीं मनाएंगे.

ANI के मुताबिक, कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघु बॉर्डर पर किसानों का विरोध-प्रदर्शन आज 48वें भी जारी है. एक प्रदर्शनकारी ने बताया,"अगर सरकार नहीं मानी तो लोहड़ी तो क्या हम होली भी यहीं मनाएंगे. हम सरकार से कहना चाहते हैं कि किसानों की तरफ ध्यान दे।यहां 51-52 लोग मर गए सरकार को उनकी फिक्र नहीं है."

बता दें, किसानों ने सिंघु बॉर्डर पर लोहड़ी पर्व को मनाने की तैयारी शुरू कर दी है. किसानों का मानना है कि सरकार उनकी बातों को गंभीरता से नहीं ले रही है और अगर सरकार ने उन्हें गंभीरता से नहीं लिया तो उनका प्रदर्शन उग्र हो सकता है. सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने भी सरकार से कहा कि इस प्रदर्शन को जल्द से जल्द खत्म किया जाए वरना SC को कोई सख्त कदम उठाना पड़ेगा.

यह भी पढ़ें- पीएम मोदी सहित इन बड़े नेताओं ने दी स्वामी विवेकानंद को नमन, उनके लिए कही ये बात