नयी दिल्ली, 23 मई (भाषा) उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति धनंजय वाई चन्द्रचूड़ ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के दौरान डिजिटल तरीके से सुनवाई, डिजिटल कार्यस्थल और मुकदमों के इलेक्ट्रॉनिक तरीके से प्रबंधन ने तकनीक को अपनाने और हमारी न्याय प्रणाली में परिवर्तन लाने का दुर्लभ अवसर प्रदान किया है।

उन्होंने कहा कि तकनीक के उपयोग से न्याय प्रणाली और ‘‘प्रभावी, समावेशी, सुगम और पर्यावरण के लिहाज से हितैषी बनेगी।’’

उच्चतम न्यायालय की ई-समिति के अध्यक्ष न्यायमूर्ति चन्द्रचूड़ ने ‘ई-कोर्ट सर्विसेज’ मोबाइल एप्लीकेशन के 14 भाषाओं में नि:शुल्क उपयोग के मैन्युअल का प्राक्कथन लिखते हुए उक्त बात कही।

ई-समिति ने अंग्रेजी और अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में मैन्युअल जारी कर स्क्रीनशॉट के साथ एप के सभी फीचर समझाएं हैं, जो आम लोगों को आसानी से समझ आएंगे।

इनमें अंग्रेजी, हिन्दी, असमी, बांग्ला, गुजराती, कन्नड़, खासी, मलयालम, मराठी, नेपाली, ओडिया, पंजाबी, तमिल और तेलगू भाषाएं शामिल हैं।

रविवार को जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, हाल ही में लांच एप 57 लाख डाउनलोड को पार कर चुका है।

न्यायमूर्ति चन्द्रचूड़ ने नि:शुल्क मोबाइल एप के महत्व पर जोर दिया और नागरिक केंद्रित कदमों की पहुंच के बारे में बताया।