दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम और रेवाड़ी में टिड्डियों का झुंड ने जिले में हड़कंप मचा दिया है. टिड्डियों के झुंड को देखते हुए हरियाणा सरकार ने क्षेत्र में हाई अलर्ट जारी किया है. वहीं, अधिकारी टिड्डियों को भगाने के लिए ट्रैक्टर पर दवा छिड़कने वाली मशीन लगाने समेत सभी जरूरी उपाय किए गए हैं.

बताया जाता है कि, राजस्थान से पहुंचा टिड्डियों का यह दल महेंद्रगढ़ जिले से गुजरते हुए शुक्रवार शाम रेवाड़ी जिले के जतुसाना और खोल प्रखंडों के विभिन्न गांवों में फैल गया. शनिवार को यह दल झज्जर जिले की ओर रवाना हुआ और फिर गुरुग्राम में घुसकर इस ‘मिलेनियम सिटी ’के आसमान में फैल गया. ये टिड्डियां पेड़ों, घरों की छतों आदि स्थानों पर बैठ गयीं.

टिड्डियों के हमले से परेशान लेागों ने उनके वीडियो साझा किए. गुरुग्राम में कई स्थानों पर लोगों ने टिड्डियों के घरों में घुस जाने की आशंका से अपनी खिड़कियां बंद कर लीं.

अतिरिक्त मुख्य सचिव (कृषि एवं कृषक कल्याण विभाग) संजीव कौशल ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘महेंद्रगढ़ से टिड्डियों का जो दल गुजरा और रेवाड़ी पहुंचा, वह पांच किलोमीटर लंबा और दो किलोमीटर चौड़ा था. रात में यह दल जतुसाना प्रखंड में था.’’ उन्होंने कहा, ‘‘रात में और तड़के दवाओं का भारी छिड़काव किया गया. दल की करीब 35 प्रतिशत टिड्डियां मर गयीं लेकिन बाकी, जो अब भी भारी संख्या में थीं, वहां से आगे झज्जर और गुरुग्राम पहुंच गईं.’’

कौशल ने कहा कि उन्हें केंद्र सरकार से जो सूचना मिली है, उसके हिसाब से ‘‘ऐसी संभावना है कि दवा की रफ्तार और दिशा के अनुसार यह दल पलवल पार कर उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ सकता है.’’ हरियाणा सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘हम पूरी तरह अलर्ट हैं और हमारे जिलों को भी अलर्ट कर दिया गया है. हमारे पास पर्याप्त कीटनाशक हैं. हमारे पास ट्रैक्टर पर लगी दवा छिड़कने वाली मशीनें हैं और जहां जरूरी हुआ, इन्हें लगाया गया.’’

अधिकारियों के अनुसार ये टिड्डियां रेवाड़ी में पेड़ों तथा कपास एवं बाजरा की फैसलों पर बैठीं. नुकसान का आकलन किया जा रहा है. रेवाड़ी का दौरा करने पहुंचे कृषि मंत्री जे पी दलाल ने संवाददाताओं से कहा कि महेंद्रगढ़, भिवानी, झज्जर और रेवाड़ी जिलों को शुक्रवार को ही अलर्ट किया गया था.