हर साल कार्तिक महीने की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि पर सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव का जन्मदिन मनाया जाता है. गुरु नानकदेव जी की जयंती को गुरु पर्व या प्रकाश उत्सव भी कहते हैं. गुरु पर्व सिख धर्म के पवित्र त्योहारों में एक माना जाता है और इस खास मौके पर देशभर में प्रकाशोत्सव का त्योहार मनाया जा रहा है. पीएम मोदी और राहुल गांधी सहित कई बड़े नेताओं ने इस पर्व की शुभकामनाएं दी हैं.

पीएम मोदी ने लिखा, 'मैं श्री गुरु नानक देव जी को उनके प्रकाशोत्सव पर नमन करता हूं. उनके विचार हमें समाज की सेवा करने और बेहरत ग्रह सुनिश्चित करने के लिए प्रेरित करते रहें.'

राहुल गांधी ने लिखा, 'अहंकार से दूर, सत्य और भाईचारे की सीख देने वाले गुरु नानक देव जी को मेरा नमन. गुरु पूरब की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएँ.'

अद्भुत समाज सुधारक, सिख पंथ के संस्थापक, भारत की समृद्ध संत परंपरा के अद्वितीय प्रतीक श्रद्धेय श्री गुरु नानक देव जी के 551वें प्रकाश पर्व पर समस्त देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं. आपकी शिक्षाएं हमें प्राणी मात्र के प्रति प्रेम, सेवा भाव एवं सद्भावना रखने हेतु प्रेरित करती हैं.

समस्त देशवासियों को श्री गुरु नानक देव जी के 551वें प्रकाश पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं. गुरु नानक जी के विचार हमें सदैव धर्म और राष्ट्रहित के मार्ग पर चलने की शक्ति प्रदान करते रहेंगे.

अखिलेश यादव ने लिखा, 'सिख धर्म के प्रथम धर्मगुरु गुरु नानक देव की जयंती की हार्दिक बधाई और शुभकामनायें. समाज को सत्य, अहिंसा, दया, करुणा और परोपकार जैसे सर्वश्रेष्ठ मानवीय मूल्यों की शिक्षा देने वाले संत गुरु नानक देव जी आज भी समाज के लिए प्रेरणास्रोत हैं.'

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लिखा, 'गुरु नानक देव ने लोगों को एकता, समरसता, बंधुता, सौहार्द और सेवाभाव का मार्ग दिखाया और परिश्रम, ईमानदारी तथा आत्मसम्मान पर आधारित जीवनशैली का बोध कराने वाला आर्थिक दर्शन दिया. उनका जीवन और उनकी शिक्षाएं, समस्त मानव जाति के लिए प्रेरणा पुंज हैं.'

गुरु नानक देव की जयंती के शुभ अवसर पर, मैं सभी देशवासियों और विदेश में बसे सभी भारतीयों, विशेष रूप से सिख समुदाय के भाइयों और बहनों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं देता हूं. आइए, इस पावन अवसर पर, हम सब अपने आचरण में उनकी शिक्षाओं का पालन करें.