बॉलीवुड एक्टर सिद्धार्थ मल्होत्रा और एक्ट्रेस कियारा आडवाणी स्टारर फिल्म 'शहशाह' रिलीज के बाद से ही दर्शकों के दिलों पर राज कर रही है. जहां इस फिल्म में कारगिल युद्ध में शामिल कैप्टन विक्रम बत्रा और उनकी प्रेमिका डिंपल चीमा के रोल के लिए सभी सिद्धार्थ और कियारा की सराहना कर रहे हैं. वहीं इस फिल्म में कुछ ऐसे एक्टर भी जिन्होंने सहायक भूमिकाएं भी निभाईं, जिनमें से एक हैं अभिनेता साहिल वैद. साहिल को फिल्म में बत्रा के सबसे अच्छे दोस्त सनी के रूप में देखा गया था.

यह भी पढ़ें: जब सगाई की अफवाह उड़ी, तब विक्की कौशल नहीं इस एक्टर के साथ थीं कैटरीना कैफ

अपने रोल के बारे में बात करते हुए साहिल ने हाल ही में एक इंटरव्यू में जूम को बताया कि उन्हें फिल्म करने का पछतावा है. क्योंकि वह निराश हैं कि लोग फिल्म में उनके योगदान के बारे में बात तक नहीं कर रहे हैं.

साहिल वैद ने अपने बयान में आगे कहा , "मैं वास्तव में जंग वाले सीन्स करना चाहता था, लेकिन डायरेक्टर को यकीन था कि मैं 'सनी' के रोल के लिए सबसे परफेक्ट हूं. मैं धर्मा प्रोडक्शन (करण जौहर) का बहुत शुक्रगुजार हूं क्योंकि उन्होंने हम्प्टी शर्मा की दुल्हनिया और बद्रीनाथ की दुल्हनिया जैसी फिल्मों में काम करने का मौका दिया इसलिए मैंने शेरशाह उन्हें थैंक यू बोलने के लिए की."

यह भी पढ़ें: विक्की कौशल-कैटरीना की सगाई की खबर वायरल! फैंस ने जताया सलमान के लिए दुख

साहिल वैद ने फिल्म में अपने रोल को लेकर अपनी नाराज़गी जाहिर करते हुए कहा कि फिल्म के हिट होने के बाद भी सपोर्टिंग कास्ट को लोग इग्नोर कर रहे हैं. सपोर्टिंग कास्ट के बारें में कोई बात नहीं कर रहा है. वह कहते हैं, "कुछ वाकई शानदार अभिनेता हैं जिन्होंने इस फिल्म में काम किया है, अपने अहंकार को अलग कर छोटी-छोटी भूमिकाओं के लिए चले गए हैं. कुछ हिस्सों को करने के लिए सहमत हुए क्योंकि वे लोग शहीद हुए विक्रम बत्रा को ट्रिब्यूट देना चाहते थे. इसलिए मैंने भी ये फिल्म की लेकिन आज मुझे महसूस हो रहा है कि मुझे इस फिल्म में काम नहीं करना चाहिए था क्योंकि लोग इस बारे में भी बात नहीं कर रहे हैं कि मैंने फिल्म में क्या किया था.”

बता दें, फिल्म की शानदार समीक्षा के बारे में बात करते हुए, सिद्धार्थ ने एक राष्ट्रीय पुरस्कार की उम्मीद की थी और ईटाइम्स से बात करते हुए सिद्धार्थ ने कहा, “अभी मैं इस तथ्य का आनंद ले रहा हूं कि लोग मेरे काम और शिल्प का आनंद ले रहे हैं. मुझे लगता है कि यह सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों (राष्ट्रीय पुरस्कारों) में से एक है जो एक अभिनेता को सरकार से मिल सकता है. मैं अभी इसके बारे में नहीं सोच रहा हूं, लेकिन वास्तव में फिल्म को मिलने वाले प्यार और सराहना में खोया हुआ हूं. ”

यह भी पढ़ें: 'धर्मात्मा' से लेकर 'खुदा गवाह' तक इन फिल्मों की शूटिंग अफगानिस्तान में हुई, देखें लिस्ट