मथुरा, 28 अप्रैल (भाषा) उत्तर प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में 29 अप्रैल को होने वाले अंतिम चरण के मतदान के लिए मथुरा जिले में मतदान कर्मियों के दल अपने-अपने क्षेत्रों में रवावा हो गए हैं।

मतदान के लिए मथुरा जिले को 19 जोन व 119 सेक्टरों में बांटकर प्रशासनिक व्यवस्था की गई है।

हर जोन को एक अधिकारी तथा सेक्टर को अधीनस्थ स्तरीय अधिकारी संभालेंगे। संवेदनशील मतदान स्थलों की निगरानी के लिए ड्रोन कैमरों का सहारा लिया जाएगा।

जिला प्रशासन ने निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान के लिए चुनाव में साढ़े पांच हजार पुलिसकर्मियों को तैनात किया है।

जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने बताया, सभी जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेटों को निर्देश दिए गए हैं कि चुनाव आचार संहिता का शत-प्रतिशत पालन कराया जाए जिससे निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित कराया जा सके।

उन्होंने बताया कि जनपद में 860 मतदान केंद्र व 2155 बूथों पर मतदान प्रातः सात बजे से सांय छह बजे तक होगा। इस मौके पर चुनाव प्रक्रिया से जुड़े सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कोविड-19 के दिशानिर्देश का पालन करते हुए चुनाव सम्पन्न कराने हैं।

सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी विनय कुमार गौतम ने बताया, पंचायत चुनाव में जिले के कुल 13 लाख 8 हजार 223 मतदाता अपने मतराधिकार का प्रयोग कर सकेंगे।

उन्होंने बताया कि 29 अप्रैल को 504 ग्राम प्रधान, 65 हजार 650 ग्राम पंचायत सदस्य, 813 क्षेत्र पंचायत सदस्य व 33 जिला पंचायत सदस्यों के लिए मतदान होगा।

पंचायत चुनाव प्रभारी एवं अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) ब्रजेश कुमार ने बताया, त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिए निर्धारित सेक्टरों में सेक्टर मजिस्ट्रेटों की ड्यूटी लगाई गई थी। परंतु करीब एक दर्जन सेक्टर मजिस्ट्रेटों को कोविड-19 हो जाने के कारण उनके स्थान पर नए सेक्टर मजिस्ट्रेटों को नियुक्त किया गया है।

उन्होंने बताया, जिले में 61 ग्राम पंचायतों को संवेदनशील श्रेणी रखा गया है।

पुलिस अधीक्षक (देहात) श्रीश चंद्र ने बताया,‘‘ जिले में 642 सामान्य मतदान केंद्र हैं। 66 मतदान केंद्रों को संवेदनशील श्रेणी में रखा गया है जबकि अतिसंवेदनशील 95 मतदान केंद्र चिन्हित किए गए हैं। 61 मतदान केंद्र अति संवेदनशील प्लस में शामिल हैं। इन सभी पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।’’