पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव नजदीक है और तृणमूल कांग्रेस पार्टी में उथल पुथल मची हुई है. पार्टी में लगातार नेताओं के बगावती तेवर देखने को मिल रहे हैं. वहीं, पार्टी किसी को मनाने में लगी है तो किसी को निष्कासित कर रही है. वहीं, अब पार्टी ने जगमोहन डालमिया की बेटी बैशाली डालमिया जो बेल्ली से विधायक हैं उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है.

बेल्ली से विधायक डालमिया टीएमसी नेतृत्व के एक वर्ग के खिलाफ सार्वजनिक रूप से अपनी बात रख चुकी हैं. साथ ही उन्होंने दावा किया था कि ''पार्टी में ईमानदार लोगों के लिये कोई जगह नहीं है.''

टीएमसी ने एक बयान में कहा कि शुक्रवार को उसकी अनुशासन समिति की बैठक हुई, जिसमें डालमिया को पार्टी से निष्कासित करने का फैसला लिया गया.

इससे कुछ ही घंटे पहले टीएमसी के ही वरिष्ठ नेता राजीव बनर्जी ने ममता बनर्जी मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था. डालमिया ने बनर्जी के इस्तीफे के लिये भी पार्टी नेतृत्व की आलोचना की.

इससे पहले भी बैशाली ने पार्टी के नेतृत्व पर आरोप लगा चुकी हैं. हाल ही में उन्होंने आरोप लगाया कि हावड़ा जिले के ''कुछ पार्टी नेता'' ऐसे हालात पैदा करने के लिये जिम्मेदार हैं, जिनसे तंग आकर लक्ष्मीरतन शुक्ला को राज्य मंत्रिमंडल से इस्तीफा देना पड़ा.

डालमिया ने आरोप लगाया कि विशिष्ट वर्ग अब खुलकर सामने आ गया है और पार्टी के वफादार सदस्यों की बात नहीं सुनी जा रही है.