टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo Paralympics) में भारत के खिलाड़ियों ने 19 पदक हासिल किए हैं. इसमें से 5 गोल्ड मेडल, 8 सिल्वर मेडल और 6 ब्रॉन्ज मेडल शामिल हैं. इसमें दो खिलाड़ी अवनि लखेरा और सिंहराज अढ़ाना ऐसे खिलाड़ी है जिन्होंने अपनी-अपनी प्रतिस्पर्धा में दो-दो मेडल देश को दिलाए हैं.

यह भी पढ़ेंः कौन है कृष्णा नागर?

अपने इस प्रदर्शन के साथ पदक तालिका में भारत 24वें स्थान पर पहुंच गया है. 96 गोल्ड मेडल के साथ कुल 207 मेडलों के साथ चीन पहले जबकि 41 गोल्ड के साथ कुल 124 मेडल लेकर ब्रिटेन दूसरे स्थान पर बना हुआ है. वहीं, 37 गोल्ड के साथ कुल 104 मेडल लेकर अमेरिका तीसरे स्थान पर है.

यह भी पढ़ेंः कौन हैं सुहास एल यथिराज?

गोल्ड मेडल के लिहाज से भारत का इससे पहले का सबसे बढ़िया प्रदर्शन 2016 के रियो पैरालंपिक में था. उस समय, भारत को दो गोल्ड मेडल और कुल चार मेडल मिले थे. वहीं 2016 के पहले देश को कुल मिलाकर केवल दो ही गोल्ड मेडल हासिल हुए थे. इसका मतलब यह हुआ कि 2020 के पहले तक भारत ने पैरालंपिक खेलों के इतिहास में कुल चार गोल्ड मेडल प्राप्त किए थे.

यह भी पढ़ेंः कौन हैं मनीष नरवाल?

गोल्ड मेडल

1. अवनि लखेरा (शूटिंग)

2. सुमित अंतिल (जैवलीन थ्रो)

3. मनीष नरवाल (शूटिंग)

4. प्रमोद भगत (बैडमिंटन)

5. कृष्णा नागर (बैडमिंटन)

यह भी पढ़ेंः कौन हैं Avani Lekhara?

सिल्वर मेडल

1. भाविना पटेल (टेबल टेनिस)

2. निषाद कुमार (हाई जंप)

3. योगेश कथुनिया (चक्का फेंक)

4. देवेंद्र झाझरिया (जैवलीन थ्रो)

5. मरियप्पन थंगावेलू (हाई जंप)

6. प्रवीण कुमार (हाई जंप)

7. सिंहराज अढ़ाना (शूटिंग 50 मीटर)

8. सहास एलवाई (बैडमिंटन)

यह भी पढ़ेंः कौन हैं सिंहराज अढ़ाना?

ब्रॉन्ज मेडल

1. सुंदर सिंह गुर्जर (जैवलीन थ्रो)

2. सिंहराज अढ़ाना (शूटिंग 10 मीटर)

3. शरद कुमार (हाई जंप)

4. अवनि लखेरा (टेबल टेनिस)

5. हर​विंदर सिंह (आर्चरी)

6. मनोज सरकार (बैडमिंटन)

यह भी पढ़ेंः कौन हैं सुमित अंतिल?