टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo Paralampics) में अवनि लखेरा ने इतिहास रच दिया है. अवनि ने शूटिंग प्रतियोगिता में महिलाओं के 10 मीटर एयर राइफल के क्लास SH1 में टॉप रहीं और गोल्ड मेडल जीत लिया. ये गोल्ड मेडल पैरालंपिक के इतिहास में भारत का शूटिंग में पहला स्वर्ण पदक है.

टोक्यो पैरालंपिक में अवनि ने भारत को तीसरा मेडल दिलाया है. जबकि ये भारत का पहला गोल्ड मेडल है.

यह भी पढ़ेंः जानें, टोक्यो पैरालंपिक में सिल्वर मेडल जीतने के बाद भाविना पटेल ने क्या कहा?

अवनि लखेरा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोल्ड मेडल के लिए बधाई दी और ट्वीट कर कहा, अभूतपूर्व प्रदर्शन अवनि लखेरा. आपके मेहनती स्वभाव और शूटिंग के प्रति जुनून के कारण संभव हुआ, कड़ी मेहनत और अच्छी तरह से योग्य स्वर्ण जीतने के लिए बधाई. यह वास्तव में भारतीय खेलों के लिए एक विशेष क्षण है. आपके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं.

भारत की पैरालंपिक समिति के अध्यक्ष दीपा मलिक ने कहा,अवनि लेखारा को पैरा शूटिंग में भारत का पहला पदक जीतने पर हार्दिक बधाई. युवा निशानेबाज ने विश्व रिकॉर्ड की बराबरी कर पदक जीता है.

अवनि ने 60 सीरीज के छह शॉट के बाद 621.7 का स्कोर बनाया जो शीर्ष आठ निशानेबाजों में जगह बनाने के लिये पर्याप्त था. इस भारतीय निशानेबाज ने शुरू से आखिर तक निरंतरता बनाये रखी और लगातार 10 से अधिक के स्कोर बनाये.

यह भी पढ़ेंः Tokyo Paralympics: निषाद कुमार ने भारत के लिए जीता दूसरा मैडल, पीएम मोदी ने दी बधाई

चीन की झांग कुइपिंग और यूक्रेन की इरियाना शेतनिक 626.0 के पैरालंपिक क्वालीफिकेशन रिकार्ड के साथ पहले दो स्थान हासिल किए.

बता दें, रविवार को भाविनाबेन पटेल ने महिलाओं की एकल टेबल टेनिस स्पर्धा क्लास 4 में और निषाद कुमार ने पुरुषों की टी47 ऊंची कूद स्पर्धा में रजत पदक जीते थे.