किसान आंदोलन के समर्थन में अब ट्रांसपोर्टर भी आ गए हैं. ट्रांसपोर्टरों के शीर्ष संगठन ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (AIMTC) ने आंदोलनकारी किसानों का समर्थन करते हुए उत्तर भारत में आठ दिसंबर से चक्का जाम करने की धमकी दी.

संगठन ने कहा कि यदि सरकार किसान समुदाय की चिंताओं को दूर करने में विफल रहती है, तो उत्तर भारत में ट्रांसपोर्टर परिचालन बंद कर देंगे.

AIMTC लगभग 95 लाख ट्रक ड्राइवरों और अन्य संस्थाओं का प्रतिनिधित्व करने का दावा करती है.

एआईएमटीसी के अध्यक्ष कुलतारन सिंह अटवाल ने कहा, ‘‘एआईएमटीसी ने पहले ही दिन से किसान आंदोलन को अपना समर्थन दिया है. हमने उत्तर भारत से शुरू होने वाले रणनीतिक अभियानों को रोकने का फैसला किया है. यदि सरकार किसानों के मुद्दे पर ध्यान नहीं देती है तो हम उनके समर्थन में देशव्यापी संचालन बंद करने का फैसला कर सकते हैं.’’

एआईएमटीसी कोर कमेटी के चेयरमैन बाल मलकीत सिंह ने कहा, ‘‘आठ दिसंबर से हम दिल्ली, जम्मू एवं कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और राजस्थान सहित पूरे उत्तर भारत में आपूर्ति को रोक देंगे. यदि सरकार विफल रहती है तो हम इसे पूरे देश में बढ़ायेंगे.’’

एआईएमटीसी ने एक बयान में कहा, किसान अपने वैध अधिकारों के लिये लड़ रहे हैं और 70 प्रतिशत से अधिक ग्रामीण परिवार कृषि पर निर्भर हैं.