सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर ने कुछ समय पहले देश के उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू के ट्विटर अकाउंट से वैरीफाई होने का चिन्ह ब्लू टिक हटा दिया था, हालांकि अपनी भूल स्वीकारते हुए ट्विटर ने मान सम्मान के साथ उन्हें ब्लू टिक वापस कर दिया है. सरकार की ओर से कहा गया था कि उपराष्ट्रपति देश का दूसरा सबसे बड़ा संवैधानिक पद है इसका अपमान बर्दास्त नहीं की जाएगी.

यह भी पढ़ें- मुकेश खन्ना ला रहे हैं अपना कॉमेडी शो 'The Mukesh Khanna Show'

यह भी पढ़ें- World Environment Day 2021: क्या है विश्व पर्यावरण दिवस? जानें इस साल की थीम

संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति किसी पार्टी का हिस्सा नहीं होते हैं, इसलिए सरकार ट्विटर की इस हरकत को संवैधानिक अनादर की नजर से देखा गया जो भारत बर्दास्त नहीं करेगा. इसके बाद ट्विटर ने अपनी गलती स्वीकार की और उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू के अकाउंट को वैरिफाई कर दिया था.

ट्विटर अकाउंट ने उपराष्ट्रपति के अकाउंट से ब्लू टिक क्यों हटाया गया, यह भारत के संविधान पर हमला जैसा है. कुछ लोगों ने दावा किया कि उनका अकाउंट एक्टिव नहीं था इसलिए उसे अनवेरिफाइड किया गया. आरएसएस नेता कुष्ण कुमार, अरुण कुमार के साथ भैयाजी जोशी और सुरेश सोनीके ट्विटर अकाउंट को भी अनवेरिफाइड किया गया जिन पर भी आपत्ति जताई थी. ऐसी भी बात है कि ट्विटर जल्द ही अपनी पॉलिसी में बदलाव करने वाला है

यह भी पढ़ेंः 5G के खिलाफ याचिका दायर कर बुरी फंसी जूही चावला, 20 लाख का लगा जुर्माना

यह भी पढ़ेंः WhatsApp का नया फीचर, 4 डिवाइस में एक साथ चला सकेंगे सिंगल अकाउंट

यह भी पढ़ेंः RBI ने किया NACH में बदलाव, बैंक में छुट्टी होने पर भी आएगी सैलरी