नागपुर, 28 अप्रैल (भाषा) महाराष्ट्र में गढ़चिरोली जिले के एक जंगल में बुधवार को पुलिस के साथ मुठभेड़ में कम से कम दो नक्सली मारे गए। इन दोनों पर सामूहिक रूप से आठ लाख रूपये का ईनाम था।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ तब शुरू हुई जब गढ़चिरोली पुलिस के सी 60 कमांडो सुबह करीब साढ़े छह बजे गट्टा जाम्बिया जंगल में नक्सल रोधी अभियान चला रहे थे।

गढ़चिरौली के पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल के कार्यालय से जारी विज्ञप्ति के अनुसार उन्हें सूचना मिली थी कि जंगल में बड़ी संख्या में नक्सलियों ने डेरा डाल रखा है और वे आपराधिक साजिश रच रहे थे।

विज्ञप्ति के अनुसार नक्सल-विरोधी अभियान के दौरान गढ़चिरोली पुलिस के सी -60 कमांडो पर 20-25 हथियारबंद नक्सलियों ने घात लगाकर हमला किया और वे उन पर अंधाधुंध गोलिया चलाने लगे।

विज्ञप्ति में बताया गया है, ‘‘ कमांडों ने तुरंत जवाबी कार्रवाई की। उसके बाद नक्सली जंगल में भाग गये। तलाशी के दौरान दो नक्सलियों के शव मिले।’’

बयान के अनुसार मारे गये नक्सलियों की पहचान विनय नरोटे (31) और विवेक नरोटे के रूप में हुई है। विनय पर दो लाख रूपये का और विवेक पर छह लाख रूपये का नकद ईनाम था।

गट्टा में सशस्त्र चौकी पर 21 अप्रैल को किये गये हमले के पीछे इन्हीं का हाथ था।

पुलिस के अनुसार उसने मुठभेड़ स्थल से पिस्तौल, बंदूक , विस्फोटक एवं अन्य नक्सली सामग्री जब्त की है।