नयी दिल्ली 26 मई (भाषा) दक्षिण दिल्ली के साकेत में सड़क पर एक व्यक्ति और उसकी बेटी से 90,000 रुपये लूटने के मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बुधवार को इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि यह घटना 20 मई की है जब रवि श्रीवास्तव नामक एक व्यक्ति अपनी बेटी के साथ अस्पताल से लौट रहे थे।

रवि गुजरात के अहमदाबाद के रहने वाले हैं और यहां कोविड-19 का इलाज करा रहे अपने बेटे से मिलने के लिए अस्पताल में गए थे। रात करीब नौ बजकर 45 मिनट पर रवि अपनी बेटी के साथ शेरेटॅन होटल की ओर लौट रहे थे।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि रवि की कार जब एम बी रोड पर स्थित डीआईपीएसएआर कॉलेज के पास पहुंची कि तभी अचानक एक मोटर साइकिल पर सवार दो लोगों ने कार में पंक्चर होने की बात कहकर उन्हें रोका।

रवि जब अपनी कार से उतरे, तभी अचानक मोटरसाइकिल की दूसरी सीट पर बैठा व्यक्ति उनकी बेटी का बैग छीनकर फरार हो गया। बैग में दो मोबाइल फोन, एटीएम कार्ड, आधार कार्ड और 90 हजार रुपये नकद भी थे। दोनों लुटेरे मदनगीर की ओर भागे।

पुलिस ने बताया कि रवि का बेटा कोरोना वायरस से संक्रमित है और बत्रा अस्पताल में वेंटिलेटर पर है।

पुलिस ने जांच के दौरान घटनास्थल के आस-पास की सीसीटीवी फुटेज देखी तो उसमें दो व्यक्ति मोटरसाइकिल पर जाते हुए देखे गए। जांच में पता चला कि मोटरसाइकिल पर सवार दोनों लोग सूरज (26) और रोहित (26) नामक व्यक्ति हैं।

पुलिस ने दोनों का पीछा किया और एक बिना नंबर प्लेट वाली मोटरसाइकिल पर उनको देखा।

दक्षिण दिल्ली के पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने कहा, ‘‘सूरज को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास से लूटा गया एक मोबाइल फोन, 14 हजार रुपये और मोटरसाइकिल बरामद की गयी। सूरज के खिलाफ करीब 35 मामले दर्ज हैं और उसे 15 अप्रैल को ही जेल से रिहा किया गया था। ’’

पूछताछ के दौरान सूरज ने बताया कि उसने अपने साथी रोहित के साथ मिलकर इस अपराध को अंजाम दिया। सूरज ने बैग में से 40 हजार रुपये और एक मोबाइल फोन लिया जबकि रोहित ने बैग की शेष धन राशि और आई-फोन लिया।

इसके बाद पुलिस ने रोहित को भी गिरफ्तार कर लिया और उसके पास से एक आई-फोन, एटीएम कार्ड, आधार कार्ड और बैग के अन्य दस्तावेज भी बरामद कर लिए।

रोहित 12 मई को ही जेल से रिहा हुआ था।