पूर्व विधायक उमेश कुशवाहा रविवार को सर्वसम्मति से जनता दल (यूनाइटेड) (JDU) की बिहार इकाई का अध्यक्ष चुना गया है. जद(यू) की राज्य परिषद की बैठक में कुशवाहा के चयन का अनुमोदन किया गया. वह वैशाली जिले के महनार विधानसभा क्षेत्र से पार्टी के विधायक रह चुके हैं.

पार्टी कार्यालय में प्रेसवार्ता के दौरान वरिष्ठ नेता एवं सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहा, '' जद(यू)की बिहार इकाई के अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए उमेश कुशवाहा का नाम प्रस्तावित किया, जिसे बैठक में उपस्थित सदस्यों ने सर्वसम्मति से मंजूरी दी.''

कुशवाहा का चुना जाना एक बार फिर पार्टी का ''लव-कुश'' (ओबीसी कुर्मी एवं कुशवाहा जाति समीकरण) की नीति पर लौटने का संकेत माना जा रहा है.

वर्ष 2005 में जब जद(यू) और भाजपा ने मिलकर राजद को बिहार की सत्ता से उखाड़ फेंका, उसके बाद से ही कुर्मी जाति से आने वाले नीतीश कुमार बिहार की राजनीति में ''लव-कुश'' समीकरण को बनाए हुए हैं ताकि गैर यादव ओबीसी जातियों को लुभाया जा सके.

साथ ही 46 वर्षीय कुशवाहा का चुना जाना यह भी दर्शाता है कि पार्टी युवा नेतृत्व की ओर बढ़ रही है ताकि बिहार के युवा नेतृत्वकर्ताओं राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के तेजस्वी यादव और लोक जनशक्ति पार्टी के चिराग पासवान का तोड़ निकाला जा सके.

उल्लेखनीय है कि हाल ही में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर करीबी आरसीपी सिंह को अपना उत्तराधिकारी बनाया.