उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए टिकट चाहने वालों से अपने आवेदन के साथ 11,000 रुपये जमा करने को कहा है.

उत्तर प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने एक आदेश जारी किया है. जिसमें कहा गया है, "सभी आवेदक अपना आवेदन जिला/राज्य स्तर पर अधिकृत व्यक्तियों के पास 11,000 रुपये की सहयोग राशि के साथ 25 सितंबर, 2021 तक जमा कर दें."

पार्टी ने पिछले सप्ताह राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के दो दिवसीय विचार-मंथन सत्र के बाद संभावित उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित किए थे. कांग्रेस प्रवक्ता डॉ उमा शंकर पांडे ने शनिवार को कहा था, "आने वाले चुनाव लड़ने के इच्छुक कार्यकर्ता राज्य या जिला मुख्यालय पर अपना आवेदन दे सकते हैं."

यह भी पढ़ें: लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (रिटायर्ड) बने उत्तराखंड के नए गवर्नर, उनके बारे में जानें

'योगदान राशि' मांगने के निर्णय के बारे में बताते हुए, पार्टी प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि यह कदम उन उम्मीदवारों की स्क्रीनिंग के लिए है जो गंभीर नहीं हैं. पार्टी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा कि नामांकन प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही जो लोग गंभीर नहीं हैं वे भी बेवजह की परेशानी पैदा कर अपना पक्ष रख रहे हैं. उन्होंने कहा कि 'योगदान' मांगने में कोई नई बात नहीं है.

उन्होंने दावा किया, "सभी विपक्षी दल इसे अपने पार्टी खातों में जमा के रूप में लेते हैं, कुछ व्यक्तिगत रूप से टिकट आवंटन के लिए बड़ी रकम लेते हैं और इसके लिए कुख्यात हैं." यूपीसीसी के मीडिया संयोजक ललन कुमार ने कहा कि चुनाव प्रक्रिया में सुधार और उम्मीदवारों को अंतिम रूप देने के लिए यह कदम उठाया गया है.

यह भी पढ़ें: दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने दीवाली से पहले पटाखों पर पूरी तरह से बैन लगाया

लल्लन कुमार ने कहा, "सब कुछ पारदर्शी है, राशि यूपीसीसी फंड में जमा की जाएगी और कोई भी व्यक्ति इसकी मांग नहीं कर रहा है." आदेश में कहा गया है कि राशि आरटीजीएस, डिमांड ड्राफ्ट या पे ऑर्डर के माध्यम से जमा की जा सकती है और एक रसीद जारी की जाएगी. 

यह भी पढ़ें: राकेश टिकैत ने ओवैसी को बताया 'BJP का चाचा जान', कहा- ये A और B टीम हैं