इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रयागराज, लखनऊ, वाराणसी, कानपुर नगर और गोरखपुर में 26 अप्रैल 2021 तक के लिए लॉकडाउन लगाने का प्रदेश सरकार को निर्देश दिया था, हालांकि यूपी सरकार ने पूरी तरह से लॉकडाउन लगाने से इनकार कर दिया है.

योगी सरकार के अधिकारी नवनीत सहगल ने कहा, "यूपी सरकार शहरों में कड़े प्रतिबंध लगाएगी, लेकिन पूर्व लॉकडाउन नहीं करेगी. यूपी सरकार कोर्ट के समक्ष अपना जवाब रख रही है." 

हाईकोर्ट ने कहा था, "हमारा विचार है कि मौजूदा समय के परिदृश्य को देखते हुए यदि लोगों को उनके घरों से बाहर जाने से एक सप्ताह के लिए रोक दिया जाता है तो कोरोना संक्रमण की श्रृंखला तोड़ी जा सकती है और इससे अग्रिम पंक्ति के स्वास्थ्य कर्मियों को भी कुछ राहत मिलेगी."

कोर्ट ने आगे कहा, "इस प्रकार से हम प्रयागराज, लखनऊ, वाराणसी, कानपुर नगर और गोरखपुर शहरों के संबंध में कुछ निर्देश पारित करते हैं और सरकार को तत्काल प्रभाव से इनका कड़ाई से अनुपालन करने का निर्देश देते हैं."

ये भी पढ़ें: कोरोना के लक्षण होने के बावजूद रिपोर्ट नेगेटिव आने पर कराएं ये जांच

अदालत ने कहा कि वित्तीय संस्थान और वित्तीय विभाग, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं, औद्योगिक एवं वैज्ञानिक प्रतिष्ठानों, आवश्यक सेवाओं (नगर निकाय के कार्य और सार्वजनिक परिवहन शामिल हैं) को छोड़कर सभी प्रतिष्ठान चाहे वह सरकारी हों या निजी, 26 अप्रैल, 2021 तक बंद रहेंगे.

ये भी पढ़ें: Delhi Lockdown: लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में किन-किन चीजों पर रहेगी पाबंदी