उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के नतीजे आ गए हैं और अयोध्या में बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा है. जिले की 40 जिला पंचायत सदस्य सीटों में से बीजेपी को बस 8 सीटों पर ही जीत मिली है. समाजवादी पार्टी का दावा है कि उसे 22 सीटें मिली हैं. 

राज्य में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल कहे जा रहे यूपी पंचायत चुनाव में बीजेपी का प्रदर्शन पार्टी की उम्मीद पर खरा नहीं उतरा है. अयोध्या के जिला पंचायत सदस्य के नतीजों को लेकर समाजवादी पार्टी ने दावा किया है कि उसके समर्थन वाले उम्मीदवारों ने जिला स्तर पर 22 सीटें जीती हैं. वहीं BSP का दावा है कि उसके उम्मीदवारों ने अयोध्या में जिला पंचायत सदस्य की चार सीटें जीती हैं.

यह भी पढ़ेंः मराठा आरक्षण को SC ने किया खारिज, उद्धव ठाकरे बोले- 'दुर्भाग्यपूर्ण है राज्य कानून नहीं बना सकता'

पूरे राज्य में सफलता के BJP के दावे के विपरीत अयोध्या इकाई ने यह स्वीकार किया है कि उनका प्रदर्शन आशा के अनुरुप नहीं रहा है. BJP के जिला प्रवक्ता दिवाकर सिंह ने बताया, "परिणाम निराशाजनक हैं. अयोध्या जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों में BJP के विधायक होने के बावजूद, हमें 40 में से सिर्फ आठ जिला पंचायत सीटों पर जीत मिली है."

यह भी पढ़ेंः फिर बढ़ने लगी पेट्रोल-डीजल की कीमत, जानें आज का भाव

BJP का चुनाव परिणाम खास तौर से सोहावल उप-जिले में ज्यादा खराब रहा है, जहां उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर केन्द्र सरकार ने मस्जिद बनाने के लिए पांच एकड़ भूमि आवंटित की है. न्यायालय ने राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद मामले का 2019 में फैसला सुनाते हुए मस्जिद के लिए जमीन देने को कहा था.

वहीं सपा ने दावा किया है कि यहां पांच में से चार सीटें उसके हिस्से में आयी हैं जबकि पांचवीं सीट निर्दलीय उम्मीदवार के पास है. परिणाम पर सपा नेता अवधेश प्रसाद ने कहा कि BJP सरकार के शासन में गांवों में लोगों को बहुत दिक्कत हो रही है.

यह भी पढ़ेंः कोरोना संकट के बीज RBI की बढ़ी घोषणा, जानें कैसे मिलेगा आपको फायदा