पिछले दिनों उत्तर भारत में भारी बारिश हुई जिसके कारण उत्तर प्रदेश के कई जिलों में जलभराव के कारण आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा. इन सबमें गोरखपुर के पास एक गांव की लड़की संध्या साहनी को काफी समस्याएं हुईं. संध्या ऑनलाइन क्लासेस नहीं ले सकती थी तो स्कूल खुलने का इंतजार किया. अब जब स्कूल खुल गए तो उसने नाव से स्कूल आने-जाने का फैसला लिया.

यह भी पढ़ें: जुबिन नौटियाल ने KBC 13 में एक करोड़ की विजेता हिमानी बुंदेला को दिया सरप्राइज

ANI के मुताबिक, गोरखपुर के पास एक गांव में रहने वाली संध्या साहनी 11वीं कक्षा में पढ़ती हैं. वह हर दिन नाव से बहरामपुर गांव तक स्कूल जाती हैं.

 इस विषय में संध्या साहनी का कहना है, 'मेरे पास ऑनलाइन क्लास के लिए स्मार्टफोन नहीं है और जब स्कूल खुला तो मैंने नाव से स्कूल आने-जाने का फैसला लिया. बाढ़ के कारण पूरे गांव में और स्कूल जाने तक जलभराव हो गया है.' संध्या के इस हौसले से हर किसी को प्रेरणा लेनी चाहिए और सोशल मीडिया पर संध्या के इस जज्बे को सलाम किया जा रहा है. 

यह भी पढ़ें: शिक्षक भर्तीः TGT के 6720 पदों पर निकली भर्ती, 30 सितंबर तक करें आवेदन

बता दें, कोरोना वायरस के दौरान देशभर के स्कूलों को बंद कर दिया गया था. लगभग डेढ़ साल के बाद सभी स्कूल फिर से खुले और बच्चों की पढ़ाई फिर से शुरू हो गई है. इसके पहले स्कूल बंद के दौरान सभी को ऑनलाइन क्लास लेने की सलाह दी गई थी लेकिन संध्या जैसे देश में बहुत से बच्चे हैं जिन्होंने स्मार्टफोन के अभाव के कारण ऑनलाइन पढ़ाई नहीं कर पाए.

यह भी पढ़ेंः SSC GD Constable 2021: 25 हजार से ज्यादा कांस्टेबल की भर्ती, जल्दी करें आवेदन