मोंटगोमरी (अमेरिका) , 26 मई (एपी) अमेरिकी संसद भवन पर जनवरी में हुए हमले के मामले में एक व्यक्ति पर 11 बोतल बम और अन्य हथियार लाने के बुधवार को आरोप तय किए गए ।

अमेरिकी जिला न्यायाधीश कॉलीन कोल्लर-मोटेली ने सोमवार को अपने आदेश में कहा कि अलबामा के फ़ॉकविले के 71 वर्षीय निवासी लोनी कॉफमैन के खिलाफ अग्नेयास्त्र लाने के मामले में सुनवाई पूरी होने तक वह जेल में ही रहेंगे।

संघीय न्यायाधीश ने कॉफमैन के टेक्सास के विद्रोही शिविर में प्रशिक्षण पाने का भी जिक्र किया और कहा कि छह जनवरी को हुए हमले के दौरान और उससे पहले उसका बड़ी संख्या में हथियारों को रखना और उसके अन्य कृत्यों को देखते हुए उसे जमानत नहीं दी जा सकती।

पुलिस को छह जनवरी को वाशिंगटन में कॉफमैन के ट्रक से 11 बोतल बम, कई बंदूके और कई अन्य हथियार मिले थे। कॉफमैन को छह जनवरी की शाम ही गिरफ्तार कर लिया गया था।

गौरतलब है कि पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति चुनाव में हार स्वीकार नहीं की थी और वह तीन नवम्बर को हुए चुनाव में धोखाधड़ी के दावे कर रहे थे। ट्रंप के इन दावों के बीच, कैपिटल बिल्डिंग (अमेरिकी संसद भवन) में उनके कथित समर्थकों ने छह जनवरी को धावा बोला था और हिंसा की थी। इसके बाद ही संसद भवन की सुरक्षा के लिए ‘नेशनल गार्ड’ की तैनाती की गई थी।