अमेरिकी सरकार ने चीनी स्मार्टफोन निर्माता शाओमी (Xiaomi) कॉरपोरेशन और चीन की तीसरी सबसे बड़ी राष्ट्रीय तेल कंपनी CNOOC को कथित सैन्य संबंधों के चलते प्रतिबंधित कर दिया है, जिसके चलते राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल के आखिरी सप्ताह में चीन के साथ तनाव बढ़ गया है.

अमरिकी रक्षा विभाग ने 9 चीनी कंपनियों को सैन्य संबंधों के चलते प्रतिबंधित सूची में शामिल किया है, जिनमें शाओमी और चीन की सरकारी विमान विनिर्माता कमर्शियल एयरक्राफ्ट कॉरपोरेशन ऑफ चाइना शामिल हैं.

इसके अलावा चीन की सरकारी कंपनी स्काईरिजों को भी आर्थिक प्रतिबंधों की सूची में जोड़ा गया है.

ताजा प्रतिबंधों के बाद अमेरिकी निवेशकों को इन कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी इस साल नवंबर तक बेचनी होगी.

शाओमी ने इस बारे में पूछे गए सवाल पर फिलहाल कोई टिप्पणी नहीं की है.

ट्रंप द्वारा पिछले नवंबर में जारी किए गए एक कार्यकारी आदेश के अनुसार अमेरिकी निवेशकों को इस साल नवंबर तक सैन्य सूची में चीनी कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी बेचनी होगी.

गार्टनर के आंकड़ों के अनुसार शाओमी कॉरपोरेशन ने 2020 की तीसरी तिमाही में बिक्री के लिहाज से स्मार्टफोन विनिर्माता ऐपल को पीछे छोड़ दिया था.

अमेरिका के वाणिज्य विभाग ने चीन की तीसरी सबसे बड़ी राष्ट्रीय तेल कंपनी चाइना नेशनल ऑफशोर ऑयल कॉर्प (सीएनओओसी) को प्रतिबंधित सूची में डाल दिया.

CNOOC विवादित दक्षिण चीन सागर में अपतटीय ड्रिलिंग में शामिल रही है, जहां बीजिंग ने वियतनाम, फिलीपींस, ब्रुनेई, ताइवान और मलेशिया सहित कई देशों के क्षेत्रीय दावों की अवहेलना की है.